हरियाणा के इस अस्पताल में मोर्चरी में सड़ने लगी लाशें, डॉक्टर खुले में कर रहे पोस्टमार्टम, जाने वजह

हिसार। हरियाणा के नागरिक अस्पतालों में कभी दवाओं का टोटा रहता है तो कभी डॉक्टरों का। अगर सब कुछ सही हो हड़ताल हो जाती है। इन सभी चीजों से लोगों को हर रोज दो चार होना पड़ता है लेकिन हिसार के सिविल हॉस्पिटल का नजारा ही अलग है क्योंकि यहां लोग मुंह पर किसी चीज से ढके बिना निकल ही नहीं सकते। जी हाँ यहाँ मोर्चरी में लाशे सड़ रहे है और डॉक्टर खुले में पोस्टमार्टम करने को मजबूर है। वजह है मोर्चरी के डी फ्रिज का ख़राब होना।

हिसार सिविल अस्पताल में हाल ही में दवाओं की कमी सामने आई थी। वहीं अब यहां पर पोस्टमार्टम हाउस में रखे डी-फ्रीजर भी खराब हो चुके हैं। डी-फ्रीजर खराब होने के कारण शुक्रवार को एक चिकित्सक को यहां दुर्गंध के कारण मजबूरीवश खुले में पोस्टमार्टम करना पड़ा।

दरअसल वीरवार रात को गांव पातन के राजेश की अचानक मौत हो गई। उसे सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया था। वहीं यहां पर एक अज्ञात मृतक को तीन दिन पहले से डी-फ्रीजर में रखवाया गया था। लेकिन यहां डी-फ्रीजर खराब होने के कारण शव गल-सड़ गया और पोस्टमार्टम हाउस में दुर्गंध फैल गई। जिस कारण चिकित्सक को यहां राजेश का पोस्टमार्टम बाहर खुले में ही करना पड़ा। पोस्टमार्टम में सामने आया कि राजेश की मौत हार्ट अटैक से हुई थी। पुलिस भी इस दौरान पोस्टमार्टम के लिए आई थी तो उन्हें भी बाहर से ही कागजी कार्रवाई करनी पड़ी।

सिविल अस्पताल के तीन डी-फ्रीजर में से दो खराब हो चुके हैं। इनमें ने दो डी-फ्रीजर मोर्चरी के बाहर पुरानी दुकानों में रखे हुए है, जबकि एक पोस्टमार्टम हाउस के अंदर है। पोस्टमार्टम हाउस के अंदर का डी-फ्रीजर भी खराब हो गया है, जिससे शव में से दुर्गंध आने लगती है। मामले में यहां के चिकित्सक और कर्मचारी कई बार मौखिक और लिखित शिकायत अधिकारियों को दे चुके हैं। लेकिन इसके बावजूद डी-फ्रीजर दुरुस्त् नहीं करवाए गए है। हालांकि शुक्रवार को यह मामला सामने आने के बाद विभाग द्वारा इंजीनियर बुलाने की बात कही गई। लेकिन देर शाम तक डी-फ्रीजर दुरुस्त नहीं किए गए थे।

Advertisement