विधानसभा में बोले विज, एमबीबीएस छात्रों को नहीं होगी परेशानी

चंडीगढ
गोल्डफिल्ड चिकित्सा विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान, फरीदाबाद बंद होने से परेशान एमबीबीएस विद्यार्थियों के लिए सुखद खबर है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि इन विद्यार्थियों को प्रदेश के अन्य मेडिकल कॉलेजों में स्थानां  तरित किया जाएगा। विभाग ने मेडिकल कांउसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) को इस बारे पत्र लिख विद्यार्थियों को अन्य मेडिकल कॉलेजों में स्थानांतरित करने में सहयोग करने की अपील की है।

हरियाणा विधानसभा सत्र के दौरान एक प्रश्न के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री ने यह जानकारी दी। बता दें कि प्रबंधन द्वारा यह मेडिकल कॉलेज बंद कर दिया गया है। विज ने बताया कि इस कॉलेज को चलाने की मंजूरी भी कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के कार्यकाल के दौरान दी गई थी।

इस कॉलेज में एमबीबीएस की 100 सीटें है, जिसमें वर्ष 2012 से 2016 तक दाखिल हुए 400 छात्र मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं। इसके लिए सरकार ने पंडित भगवत दयाल शर्मा स्वास्थ्य आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, रोहतक के कुलपति डॉ. ओ पी कालरा की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया है ताकि शीघ्र इस कॉलेज के विद्यार्थियों को अन्य मेडिकल कॉलेजों में भेजा जा सके।  इस बारे में कमेटी द्वारा एक बैठक कर ली गई है और शीघ्र ही किसी निर्णय पर पहुंचा जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने सख्त लहजे में कहा कि छात्रों के भविष्य से इस तरह खिलवाड़ करने वाले लोगों से कड़ाई से निपटा जाएगा। साथ ही विभाग को निर्देश दिए हैं कि मेडिकल कॉलेज की मंजूरी देते समय सभी पहलुओं को ध्यान में रखा जाए।