नारकोटिक्स ब्यूरो की बड़ी कार्रवाई, दवा बनाने वाली फैक्टरी में नशीला पदार्थ बरामद

सोनीपत। हरियाणा में नशे पर लगाम लगाने के लिए नारकोटिक्स डिपार्टमेंट लगातार कड़ी कार्रवाई कर रहा है। इसी कड़ी में सोमवार देर रात नारकोटिक्स डिपार्टमेंट की एक टीम हेल्थ ग्लोबल नाम की एक कंपनी में रेड मारने पहुंची। इस कंपनी में टीम को अवैध रूप से दवाइयों में प्रयोग होने वाला मादक पदार्थ मिला। इसके बाद नारकोटिक्स डिपार्टमेंट ने पुलिस और ड्रग्स डिपार्टमेंट को कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

हरियाणा में नशे पर लगाम लगाने के लिए जाधव हरियाणा स्टेट नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो लगातार कड़ी कार्रवाई कर रहा है और इसी कड़ी में देर रात नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की एक टीम सोनीपत की राई इंडस्ट्रियल एरिया में चल रही हेल्थ ग्लोबल नाम की एक कंपनी में पहुंची और वहां पर टीम को अवैध रूप से दवाइयों में प्रयोग होने वाला मादक पदार्थ मिला, जिसके बाद हरियाणा नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो ने इस पूरे मामले में पुलिस विभाग व ड्रग्स को कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए।

हरियाणा में भी युवा लगातार नशे की चपेट में आ रहे हैं और इसी को देखते हुए हरियाणा सरकार ने एडीजीपी श्रीकांत जाधव के नेतृत्व में नारकोटिक्स ब्यूरो का गठन कर रखा है जो कि लगातार हरियाणा में नशे के सौदागरों पर शिकंजा कस रही है, देर रात सोनीपत के राई औद्योगिक क्षेत्र में ग्लोबल हेल्थ नाम की एक दवाई बनाने की फैक्ट्री में जब एनसीबी की टीम पहुंची तो वहां पर अफरा-तफरी का माहौल देखने को मिला और एनसीबी की टीम को वहां से अवैध रूप से दवाइयों में प्रयोग होने वाला केमिकल मिला जिसके बाद एनसीपी की टीम ने इस पूरे मामले में सोनीपत राई थाना पुलिस को इस मामले की शिकायत दी और फैक्ट्री व मालिकों पर मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए, वही अब ड्रग्स विभाग भी इस पूरे मामले में कार्रवाई करने में जुटा है।

इस मामले की नारकोटिक्स विभाग में तैनात इंस्पेक्टर अजय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा एनसीबी द्वारा आज राई इंडस्ट्रियल एरिया में स्तिथ हेल्थ ग्लोबल नाम की कंपनी में रेट की गई है इस कंपनी में दवाइयां बनाने का काम किया जाता है और यहां पर हमें अवैध रूप से रखा केमिकल मिलाया जो की दवाइयों में प्रयोग होना था हालांकि इस कंपनी के पास दवाइयां बनाने का लाइसेंस है लेकिन जो केमिकल वह दवाइयों में प्रयोग कर रहे थे वह अवैध है, इसकी मात्रा 67 किलो के आसपास दर्ज हुई है जो कि अगर दवाइयों के माध्यम से बाजार में बिकता तो इससे युवा नशे के आदी बन सकते थे, इस पूरे मामले में सोनीपत पुलिस को शिकायत दी जाएगी और फैक्टरी को सील करने के आदेश विभाग को जारी किए जाएंगे।

Advertisement