खुलेआम बिक रही हैं नशे व गर्भपात की दवाएं

नशे का कारोबार
नशे की दवाएं

सोनीपत : हरियाणा के सोनीपत में मेडिकल स्टोर पर खुलेआम गर्भपात और नशे की दवाएं बेची जा रही है। इन मेडिकल स्टोर पर स्वास्थ्य मानकों को दरकिनार करते हुए बिना बिल व डॉक्टर के परामर्श के ही इनकी बिक्री हो रही है।

गर्भपात की दवाओं के ओवरडोज से एक महीने में 17 महिलाओं की हालत बिगड़ने पर अस्पतालों में भर्ती कराना पड़ा है।
विभिन्न रोगों में काम आने वाली कई दवाओं में हल्का नशा भी होता है। डायजापाम, एल्प्राजोलाम और स्पास्मो प्रोक्सीवोन इसी श्रेणी की दवाएं हैं।

नशे की दवाओं के साथ ही गर्भपात की दवाओं की भी खुलेआम बिक्री की जा रही है। सबसे ज्यादा खपत कामगार बस्तियों, औद्योगिक क्षेत्रों और जीटी रोड के आसपास की कॉलोनियों में है।

वहीं जिला औषधि निरीक्षक संदीप हुड्डा ने कहा कि किसी हाल में नशा और गर्भपात की दवाओं की बिक्री नहीं होने दी जाएगी। ऐसे लोगों से जानकारी जुटाई जा रही है। विभाग संबंधित मेडिकल स्टोर का लाइसेंस निरस्त करने के साथ ही केस दर्ज कराएगा।

ड्रग डिपार्टमेंट की लापरवाही और मनमानी से जिले में नशा का धंधा धड़ल्ले से फल-फूल रहा है। यह दवाएं दिल्ली से लाकर धड़ल्ले से बेची जा रहा है।

गर्भपात की किट एक से डेढ़ हजार रुपये में बिक रही है। इसी तरह से नशे की गोलियां-कैपसूल और इंजेक्शन 20 से 30 गुना मूल्य पर मिल रहे हैं। इनकी सबसे ज्यादा बिक्री कामगार बस्तियों और औद्योगिक क्षेत्रों में की जा रही है। स्टोर संचालक मनमाने तरीके से इनकी बिक्री करते हैं।

Advertisement