सावधान : अगर आप भी चाय के बाद दवा लेते है

दवा
concept image

नई दिल्ली : अगर आप भी चाय पीने के बाद दवा लेना पसंद करते हैं तो अब आपको सावधान होने की जरूरत है। आपको यह आदत तुरंत बदलने की जरूरत है। चाय के साथ दवा लेने के कई नुकसान है। ऐसे में आप भी जानें और इस आदत में बदलाव करें ।

आइये जानते हैं दवा और चाय को साथ लेने के नुकसान

रिकवर करने में लगता है समय
चाय में टैनिक एसिड, थियोफिलाइन और कैफीन पाया जाता है। साथ ही इसमें टैनिन होता है जो दवा के साथ मिलने के बाद रासायनिक प्रतिक्रिया करते हैं। इस तरह यह दवा के असर को कम कर देते हैं। इससे रिकवरी होने में भी समय लगता है।

दवा के प्रभाव होता है कम-
नींद की दवा लेने वाले अगर चाय के साथ इस दवा को लेते है तो चाय दवा के प्रभाव को कम कर देती है। क्योंकि चाय में कैफीन मौजूद होता है, और वह इस दवा के प्रभाव को लगभग खत्म कर देता है।

डाइजेशन से जुड़ी समस्या-
बार-बार चाय पीने से डाइजेशन से जुड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इसके साथ ही ब्लड प्रेशर जैसी गंभीर समस्याओं का कारण बन सकती है।

पानी के साथ दवा लेना है सबसे बेहतर-
डॉक्टरों का कहना है कि दवा को सादे पानी से लेना ही सर्वोत्तम और सबसे सुरक्षित होता है। एक घूंट के बजाय एक गिलास पानी बेहतर होता है, क्योंकि यह दवा को घुलने में मदद करता है।
जर्नल फार्मास्यूटिकल रिसर्च में प्रकाशित हुए शोध के अनुसार, ठंड और बुखार की दवा को ज्यादा प्रभावी बनाने के लिए इसे गर्म पानी के साथ लिया जाना चाहिए ।

Advertisement