आईवीएफ तकनीक से 70 साल की उम्र में दंपत्ति ने अपने पहले बच्चे का किया स्वागत

डॉक्टर पंकज गुप्ता

जयपुर : राजस्थान के अलवर में शादी के 54 साल बाद सोमवार को 75 वर्षीय एक व्यक्ति और 70 वर्षीय महिला ने अपने पहले बच्चे का स्वागत किया।

डॉक्टरों ने दावा किया कि यह राज्य में एकमात्र मामला है। हालांकि, आईवीएफ तकनीक से देश और दुनिया में कई बुजुर्ग कपल्स 70-80 साल की उम्र में भी माता-पिता बन गए हैं।

75 वर्षीय उम्र में पिता बने गोपीचंद झुंझुनू के नुहनिया गांव से है। वह रिटायर सैनिक हैं, उन्हें बांग्लादेश युद्ध के दौरान पैर में गोली लगी थी।

डॉक्टर पंकज गुप्ता ने कहा कि बच्चा और मां दोनों ठीक हैं। बच्चे का वजन करीब 3.5 किलो है।

उन्होंने कहा, देश भर में इस उम्र में माता-पिता बनने के कुछ ही मामले हैं। राजस्थान का शायद यह पहला मामला है, जिसमें 75 वर्षीय पुरुष और 70 वर्षीय महिला को बच्चा हुआ है।

पिता बनने की खुशी जाहिर करते हुए गोपीचंद ने कहा, खुशी है कि हम अपने परिवार को आगे ले जा सकते हैं क्योंकि मैं अपने पिता नैनू सिंह का इकलौता बेटा हूं।

गोपीचंद को सेना से रिटायर हुए 40 साल हो चुके हैं। गोपी सिंह को बांग्लादेश युद्ध में गोली लगी थी। संयोग की बात है कि पत्नी चंद्रावती का सिजेरियन ऑपरेशन करने वाली डॉक्टर कर्नल रीना यादव भी सिपाही हैं।

Advertisement