रामगढ़ में औषधि नियंत्रक अधिकारियों का खौफ

रामगढ़ (झारखंड): शहर में नशीले इंजेक्शन और दवा के अवैध कारोबार को रोकने की दिशा में राज्य औषधि निदेशालय नामकुम, रांची द्वारा गठित तीन सदस्यीय टीम ने दंडाधिकारी और रामगढ़ थाना पुलिस के साथ नेहरू रोड स्थित दवा मंडी में दवा के थोक विक्रेता श्रीबालाजी मेडिकल एंड सर्जिकल पर छापा मारा। साथ ही गोला रोड, सतकौड़ी कॉम्पलेक्स के निकट एसएस मेडिकल हॉल (हसन मेडिकल) को सील कर नोटिस चस्पा दिया। औषधि विभाग ने श्रीबालाजी मेडिकल के संजय कुमार अग्रवाल के ठिकाने से आठ तरह के इंजेक्शन और काफी मात्रा में दवाएं जब्त की। टीम ने संचालक को 20 दिनों के भीतर संबंधित इंजेक्शन-दवा के क्रय-विक्रय कागजात प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

तब तक इंजेक्शन और दवा खरीद-बिक्री पर रोक लगा दी गई है। औषधि निरीक्षक पुतली बिलुंग के मुताबिक, जब्त इंजेक्शन और दवा का उपयोग नशे के रूप में होता है। दुकानदार के पास मौके पर इन दवाओं के क्रय-विक्रय से जुड़े कोई भी दस्तावेज नहीं मिले। 20 दिन बाद संतोषजनक जवाब नहीं मिला तो विभागीय कार्रवाई के बाद लाइसेंस रद्द किया जा सकता है। वहीं, एसएस मेडिकल के बाहर एक नोटिस चस्पा कर 12 सितंबर तक दुकान खुलवाकर निरीक्षण करवाने का निर्देश दिया गया है, क्योंकि औषधि विभाग के छापे की सूचना पाकर दवा दुकानदार भाग गया था। बता दें कि बीती 30 अगस्त को भी टीम ने नेहरू रोड स्थित सृष्टि फार्मा के अवैध दवा गोदाम को सील किया था। सृष्टि फार्मा के संचालक अभिषेक कुमार के विरुद्ध रामगढ़ थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई है।