बच्चों का दिमाग बढ़ाने चले थे,पहुंच गए जेल

फरीदाबाद

बच्चों का दिमाग तेज करने की दवा पिलाने का झांसा देकर एक एनजीओ द्वारा शहर में जगह जगह शिविर लगाए गए। यह लोग बच्चों को दवा पिलाने के लिए नाम पर लोगों से रुपए भी ऐंठ रहे थे। ये लोग पल्ला इलाके में शिविर लगा कर बच्चों को दवा पिलाने के नाम पर लोगों से रुपए ऐंठ रहे थे। मामले का पता चलते ही सिविल सर्जन ने डाक्टरों की टीम गठित कर छापा मारने के आदेश दे दिए। जांच के दौरान पता चला कि आरोपियों के पास दवा पिलाने के लिए किसी तरह की अनुमति नहीं थी।
जिला आर्युवेद विभाग के डाक्टर की शिकायत पर थाना सराय वाजा पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक जिला आर्युवेद विभाग के डा. अभिषेक कसाना ने अपनी शिकायत में कहा है कि वह यहां बादशाह खान अस्पताल के आयुष विभाग में तैनात है, पिछले कुछ दिनों से कुछ लोग जगह जगह बच्चों को दवा पिलाने के लिए शिविर लगा रहे थे। शिविर के आयोजक बच्चों का दिमाग तेज करने की दवा देने का दावा करते थे। दवा पिलाने से पहले आरोपी कार्ड बनाने के लिए दस रूपए और प्रति बच्चे को दवा पिलाने के लिए 30 रूपए वसूल रहे थे।
कुछ दिनों पहले आरोपियों ने जवाहर कालोनी इलाके में शिविर लगा कर सैकड़ों बच्चों को दवा पिला कर हजारों रुपए लोगों से ऐंठ लिए थे। पिछले कुछ दिनों से इन लोगों ने पल्ला इलाके में शिविर लगाया। जहां यह आरोपी रुपए लेकर बच्चों को यह फर्जी दवा की ड्रॉप पिला रहे थे।
तभी इस बात की सूचना किसी ने जिला सिविल सर्जन डॉ.गुलशन अरोड़ा को दे दी। अरोड़ा ने टीम गठित कर छापा मारने के आदेश दे दिए। डॉ रमेश के नेतृत्व में टीम ने मौके पर छापा मार दिया और जांच शुरू कर दी।