सरकारी की जगह खुलवाये निजी कालेज

चंडीगढ़

हरियाणा सरकार ने राज्य में सरकारी क्षेत्र के 7 नर्सिंग कॉलेज खोलने का फैसला किया था। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने फाइल भी तैयार की, लेकिन सरकारी क्षेत्र के कॉलेज खोलने की बजाय प्राइवेट लोगों को लाइसेंस देकर उनके नर्सिंग कॉलेज खुलवा दिये गये। मामला पूर्व की हुड्डा सरकार के कार्यकाल का है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने इस मामले का संज्ञान लेते हुए विभाग के अधिकारियों को इसकी जांच के आदेश दिए हैं।

कांग्रेस सरकार ने फरीदाबाद, झज्जर, पंचकूला, कैथल, रेवाड़ी, मेवात और सोनीपत में सरकारी नर्सिंग कॉलेज खोलने का फैसला किया था। फैसले के बाद विभाग ने प्रस्ताव तैयार करके भेजा, लेकिन फाइल कई दिनों तक दबी रही। इसके बाद सरकारी नर्सिंग कॉलेज खोलने की बजाय सातों जिलों में प्राइवेट नर्सिंग कॉलेज खोलने की मंजूरी दे दी गयी। विज के अनुसार, जब यह फाइल उनके सामने आई तो गड़बड़ी का खुलासा हुआ। उनका कहना है कि आखिर अपनी ही योजना को कोई ठंडे बस्ते में कैसे डाल सकता है। नर्सिंग कॉलेज खोलने के लिए सभी तरह की औपचारिकताएं पूरी हो चुकी थीं, लेकिन पूर्व सरकार ने अपने खर्चे पर मेडिकल कॉलेज खोजने की बजाय प्राइवेट लोगों के कॉलेज खुलवा दिए ताकि वे प्रदेश में लूट मचा सके