कछार में 70 करोड़ रुपये मूल्य की 2.60 लाख याबा टैबलेट बरामद

कछार में 70 करोड़ रुपये मूल्य की 2.60 लाख याबा टैबलेट बरामद

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के मिजोरम और कछार फ्रंटियर्स ने असम पुलिस के साथ एक संयुक्त अभियान में मिजोरम से ले जायी जा रही याबा टैबलेट की बड़ी खेप जब्त की है। बीएसएफ अधिकारियों के मुताबिक, कछार के कटाखल इलाके में चलाए गए इस ऑपरेशन के दौरान 2,60,000 याबा टैबलेट बरामद किए गए, लेकिन संदिग्ध ड्रग तस्कर भागने में सफल रहे। उन्होंने बताया कि मादक पदार्थों को गुप्त कक्षों के अंदर 26 पैकेटों में रखा गया था।

विशिष्ट इनपुट पर कार्रवाई करते हुए, बीएसएफ और कछार पुलिस ने असम के श्रीकोना, सिलचर के पास NH-37 पर एक कार को रोका और वाहन की गुहा में छिपाई गई  26 करोड़ (अवैध बाजार में) कीमत की 2,60,000 याबा टैबलेट जब्त कीं।

कछार के पुलिस अधीक्षक नुमल महत्ता ने कहा कि वाहन भारत-म्यांमार अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे मिजोरम के चम्फाई जिले से आ रहा था। उनके मुताबिक अंतरराष्ट्रीय बाजार में इन उत्पादों की कीमत 70 करोड़ रुपये होगी। महत्ता ने कहा कि दो व्यक्ति खेप ले जा रहे थे, लेकिन वे अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहे। वे पास की नदी में कूद गए, लेकिन हमारा तलाशी अभियान जारी है। हमें विश्वास है कि उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें- 2.44 लाख रुपए की नशीले कफ सिरप के साथ 3 गिरफ्तार

जांच अधिकारियों ने कहा कि ऐसी संभावना है कि याबा टैबलेट की खेप म्यांमार से आई थी और तस्कर स्थानीय स्रोतों का उपयोग करके मिजोरम से होकर गुजरने में कामयाब रहे। असम पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “ड्रग आपूर्ति गतिविधियों के मास्टरमाइंड आमतौर पर इन पदार्थों के परिवहन के लिए स्थानीय युवाओं को शामिल करते हैं, और ये लोग आमतौर पर गिरफ्तार हो जाते हैं।” असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने सफल ऑपरेशन के लिए पुलिस और बीएसएफ की प्रशंसा की।

Advertisement