Rs 17 का सीरप 82 में

ग्वालियर
खांसी के सीरप के नाम पर दवा कंपनियां मरीजों के साथ ठगी कर रही हैं। नौ से 20 रुपए वाले ये सीरप बाजार में 100 से 120 रुपए एमआरपी पर बिक रहे हैं। हुजरात रोड स्थित होलसेल मार्केट सहित बाजारों में कई कंपनियों के सीरप कम दामों पर मिलते हैं, लेकिन यही सीरप जब रिटेल मेडिकल स्टोर पर पहुंचते हैं, तो 10 से 20 गुना कीमत पर बेचे जाते हैं।

एक शिकायत के आधार टीम हुजरात रोड स्थित दवा के थोक विके्रता पवन मेडिकल पर आरएमपी डॉक्टर बन कर पहुंची और खांसी के सीरप की मांग की। दुकानदार दीपक ने तत्काल ज्यादा प्रिंट रेट वाले सीरप सामने रख दिए। उसने बताया कि इन सीरप पर आपको ज्यादा फायदा हो जाएगा। टीम ने मौके से ही ड्रग इंस्पेक्टर से बात की, तो उन्होंने कहा कि अगर दुकानदार एमआरपी से ज्यादा रेट पर दवा बेचता है, तो हम उस पर कार्रवाई कर सकते हैं। अब दवाओं पर ज्यादा एमआरपी के बारे में सरकार को निर्णय लेना है। उल्लेखनीय है कि दवा कंपनी, रिटेल मेडिकल स्टोर संचालक व क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टरों के गोरखधंधे के कारण मरीजों के साथ धोखा किया जा रहा है। कंपनी संचालक दवाओं पर मनमाने प्रिंट छपवाकर डॉक्टर को मोटा कमीशन देते हैं। इसका सीधा असर मरीजों की जेब पर पड़ता है।

हम प्रदेश भर में अभियान चलाएंगे-स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव का कहना है कि प्रदेश में कई स्थानों पर बिना बिल के फेंसीड्रिल कफ सीरप पकड़े गए हैं। हम इस मामले में ड्रग कंट्रोलर से समन्वय कर प्रदेशभर में कार्रवाई करेंगे।