क्लीनिक में छापा, लिंग जांच करते तीन डॉक्टर गिरफ्तार

लुधियाना
अवैधतौर पर लिंग जांच करने के आरोप में पुलिस ने तीन डॉक्टरों को स्टाफ सहित गिरफ्तार किया है। इनमें एक लेडी डॉक्टर भी है। पुलिस टीम करीब 15 दिन से इस क्लीनिक पर नजर रखे हुए थी।
जंडली गांव के पास गुजरती नहर के किनारे ये होम क्लीनिक पिछले 8-10 साल से चल रहा था। छापेमार टीम में एसपी-डी संगरूर जसकरण सिंह तेजा, एसपी जसविंदर सिंह मालेरकोटला और सीआईए के इंचार्ज इंस्पेक्टर विजय कुमार शामिल थे। इस दौरान लिंग चेक कराने आई करीब 23 महिलाओं से भी पूछताछ चल रही है।
इंस्पेक्टर विजय कुमार ने बताया कि डॉ. हेमंत के फार्म हाऊस में चल रहे इस होम क्लीनिक पर 14-15 दिन से वह नजर रखे हुए थे। हेमंत ने स्वास्थ्य विभाग के पास इस क्लीनिक को रजिस्टर्ड भी करवा रखा था।
सुबह तीन बजे करते थे काम शुरू – इंस्पेक्टरविजय ने बताया कि आरोपी लिंग जांच करने के लिए सुबह तीन बजे से ही लोगों को बुलाना शुरू कर देते थे। आमतौर पर एक या दो महिलाएं ही जांच कराने के लिए आती थीं। गत दिवस करीब 23 महिलाएं लिंग जांच कराने आई। उन्होंने कहा कि जांच करवाकर जब सभी महिलाएं बाहर आईं तो हमारी टीम ने उनसे पूछताछ की। इसके बाद इस गोरखधंधे को चलाने वाले दो डॉक्टरों और एक लेडी डॉक्टर को स्टाफ समेत गिरफ्तार कर लिया। जांच में पता चला कि यह लोग लडक़ी के भ्रूण को पेट में ही मार देते थे।
इंस्पेक्टर विजय ने बताया कि यह क्लीनिक एमडी डॉ. हेमंत, डॉक्टर मलकीत सिंह और उनकी पत्नी सुखबीर कौर पिछले 10 साल से चला रहे थे। एजेंटों के जरिए ये लोग पूरे पंजाब से लिंग जांच के लिए महिलाओं को बुलाते थे। सुबह 4 बजे से पहले ही चेकअप कर क्लीनिक बंद कर दिया जाता था। विजय कुमार ने बताया, मौके पर दो एजेंट मनजीत कौर संगरूर रणजीत कौर गांव चीमा को भी काबू किया है। हेल्थ अफसरों की मौजूदगी में थाना सदर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया।