नकली घी के रैकेट का बड़ा खुलासा, नामी कंपनियों के नाम पर बिक रहा जहर

नकली घी के रैकेट का बड़ा खुलासा, नामी कंपनियों के नाम पर बिक रहा जहर

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में नकली घी के रैकेट को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है जिसके बाद दिल्लीवाले घी खाने से तौबा कर लेंगे। यहां से अमूल, मदर डेयरी, पतंजलि और कई डेयरी उत्पादों की पैकेजिंग सामग्री बरामद हुई है। पुलिस उपायुक्त (द्वारका) एम. हर्ष वर्धन ने जानकारी दी कि द्वारका जिले की डीआईयू (जिला जांच इकाई) और सतर्कता इकाई को कंपनियों की शिकायतों पर कॉपीराइट और ट्रेडमार्क मामलों में छापेमारी करने की जिम्मेदारी सौंपी गई।

द्वारका पुलिस को इस संबंध में शिकायत मिली थी कि  दिचाऊं कलां में नकली घी तैयार करने और नामी कंपनी के पैकेजिंग में नकली घी पैक कर उसे बेचा जा रहा है। पुलिस की टीम ने जांच पड़ताल करने के बाद इस फैक्टरी पर जाकर छापेमारी की। पुलिस की टीम जब छापेमारी करने पहुंची तो  फैक्टरी में नकहली घी तैयार करने और पैकेजिंग का काम चल रहा था। छापेमारी के दौरान पुलिस की टीम को मौके से इलेक्ट्रॉनिक वजन मशीन, जलता हुआ स्टोव और मदर डेयरी, अमूल, मिल्कफूड, नक्श डेयरी आदि के टेट्रा पैक बॉक्स मिले।

पुलिस ने जानकारी दी कि मौके से मदर डेयरी की पैकेजिंग के 4900 रैपर, मदर डेयरी के लेबल वाले 120 कार्टून, मदर डेयरी पैक में 4 लीटर घी, पतंजलि घी के 231 खाली पैक, अमोल घी के सौ कार्टून, अमोल घी के 1245 टेट्रा पैक बॉक्स, अमोल घी के टेट्रा पैक की 1568 प्लास्टिक थैली, पैकिंग मशीन, वजन मशीन, मिल्क फूड घी ब्रांड के 132 टेट्रा पैक डिब्बे, मिल्क फूड के 23 कार्टून, नक्शडेयरी के 64 कार्टून, 50 लीटर नक्श घी, एक कटोरे में नौ लीटर खुला घी, 60 लीटर वनस्पति घी, 40 खाली वनस्पति कंटेनर, पतंजलि गाय घी की पैकेजिंग में पैक किया गया 15 लीटर घी और दो अल्यूमीनियम टब मिले।

ये भी पढ़ें- रहस्यमय निमोनिया को लेकर डॉक्टर ने दी चेतावनी

फैक्टरी में दो कर्मचारी ग्वालियर मध्य प्रदेश निवासी अर्जुन और दतिया निवासी प्रिंस काम करते मिला। जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया। पुलिस ने फैक्ट्री के मालिक सुमित के खिलाफ कॉपी राइट का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस सुमित की गिरफ्तारी के लिए दबिश कर रही है।

Advertisement