यूनानी आयुर्वेदिक उपचार घोटाले में 4 फर्जी डॉक्टर दबोचे

नोएडा में नशीले पदार्थों के रैकेट का पर्दाफाश, यूनिवर्सिटी छात्र समेत 9 आरोपी गिरफ्तार

मुंबई। क्राइम ब्रांच यूनिट 3 ने यूनानी आयुर्वेदिक उपचार घोटाला करने के मामले में फर्जी डॉक्टर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। बता दें कि क्राइम ब्रांच यूनिट 3 ने हाल ही में नासिक के मालेगांव से एक फर्जी यूनानी आयुर्वेदिक डॉक्टर समेत एक गिरोह को दबोचा था। गिरफ्तार किए गए लोग यूनानी आयुर्वेदिक उपचार प्रणाली के नाम पर खुद को डॉक्टर बताकर इलाज के बहाने से नागरिकों को उनके घर जाकर धोखा देते थे।

क्राइम ब्रांच ने नासिक के मालेगांव से मुख्य आरोपी मोहम्मद शेरू शेख मकसूद खान उर्फ डॉक्टर आर पटेल (49) को गिरफ्तार कर लिया। उसके साथ मोहम्मद नफीस मोहम्मद शरीफ (39), मोहम्मद आसिफ निसार (27) और मोहम्मद आसिफ (44) को भी गिरफ्तार किया गया। ये चारों आरोपी राजस्थान के रहने वाले हैं।

इस मामले में जांच से पता चला कि गिरफ्तार व्यक्तियों ने माटुंगा पुलिस स्टेशन की सीमा के भीतर यूनानी आयुर्वेदिक उपचार के नाम पर एक 77 वर्षीय वरिष्ठ नागरिक को भी धोखा दिया था। इस मामले में उनके खिलाफ माटुंगा पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 420, 406, 34 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

करीब 75 वर्षीय महिला ने माटुंगा पुलिस को दर्ज कराई शिकायत में बताया कि वह अपने पति के साथ बाबुलनाथ मंदिर गई थ। वहां कुलदीप नामक व्यक्ति ने उनसे कहा कि उन्हें गठिया की बीमारी है, जिसका इलाज डॉक्टर ही यूनानी पद्धति से कर सकते हैं। आरोपी शिकायतकर्ता महिला के घर आया और उसके घुटनों पर ब्लेड से निशान लगाने के बाद दावा किया कि मवाद निकला है, जिससे महिला को विश्वास हो गया कि उसकी बीमारी ठीक हो गई है। इन लोगों ने इस कथित इलाज के लिए महिला से 7.50 लाख रुपये ठग लिए।

Advertisement