नशीली दवा के साथ एक युवक और सप्लायर को किया अरेस्ट

यमुनानगर। एंटी नारकोटिक सेल की टीम ने प्रतिबंधित नशीली दवा के साथ एक युवक को अरेस्ट किया है। टीम ने नशीली दवाओं के मुख्य तस्कर को भी गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

इस संबंध में इंचार्ज बलराज सिंह ने बताया कि उनकी टीम को गुप्त सूचना मिली थी। पता चला कि कि एक युवक विश्वकर्मा चौक पर प्रतिबंधित दवाइयां के साथ खड़ा है। सूचना के आधार पर उप निरीक्षक रामकुमार, सतीश कुमार, एएसआई मेहर लाल, बीरबल, राजेंद्र, संदीप, कमल, प्रदीप के टीम का गठन किया गया। ड्यूटी मजिस्ट्रेट ईटीओ रोहित शर्मा को भी बुलाया गया।

ट्रामाडोल के 240 कैप्सूल पाए गए

टीम ने मौके पर जाकर वहां घूम रहे युवक को गिरफ्तार किया। उसकी तलाशी ली तो उसके पास से कुछ प्रतिबंधित दवाइयां बरामद हुई। मौके पर ड्रग कंट्रोलर रितु मेहला को बुलाया गया। उन्होंने दवाइयों की जांच की तो आरोपी के पास से बरामद 240 कैप्सूल ट्रामाडोल के पाए गए। ये कैप्सूल पूर्ण रूप से प्रतिबंध हैं।

दोनों कों न्यायिक हिरासत में भेज दिया

आरोपी युवक की पहचान ईशोपुर निवासी अजय उर्फ आशु पुत्र जयपाल के नाम से हुई। आरोपी आशु ने बताया कि वह प्रतिबंधित दवाइयां गांव उन्हेड़ी निवासी कुलदीप से लेकर आया था। कुलदीप ईशोपुर गांव में ही डॉक्टर की दुकान करता है। टीम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए कुलदीप को भी आईटीआई के पास से गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने दोनों कों न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

गौरतलब है कि जिला पुलिस नशा मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत मादक पदार्थ तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए लगातार कड़ी कार्रवाई कर रही है। इसमें जिला पुलिस की विभिन्न क्राइम इकाइयां लगातार नशा तस्करों पर शिकंजा कस रही हैं। इसी कड़ी में उपरोक्त कार्रवाई की गई।

 

Advertisement