मैनकाइंड फार्मा सात फीसदी हिस्सा बेचने की कर रही तैयारी

मुंबई। दवा कंपनी मैनकाइंड फार्मा सात फीसदी हिस्सा बेचने की तैयारी में है। यह बड़ी ब्लॉक डील शेयर बाजार में देखने को मिलेगी। इस डील का बेस साइज 4935 करोड़ रुपये और अपसाइज ऑप्शन 5649 करोड़ रुपये बताया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार इस डील में 5 प्राइवेट इन्वेस्टर हिस्सा बेचेंगे। फार्मा कंपनी में निवेशक ब्लॉक डील के जरिए कुल 6.9 फीसदी इक्विटी की सौदा करेंगे। संभावना जताई गई है कि यह डील 1785.65 रुपये प्रति शेयर के फ्लोर प्राइस पर हो सकता है। करंट मार्केट प्राइस से करीब 7 फीसदी तक के डिस्काउंट पर यह ब्लॉक डील हो सकती है। कोटक ब्लॉक डील के लिए ब्रोकर हो सकता है।

कंपनी का यह रहा शेयर

बीते सोमवार को कंपनी के शेयर में गिरावट देखने को मिली थी। यह गिरावट 1.68 फीसदी की गिरावट के साथ 1,920 रुपये पर बंद हुई। शेयर का 52 वीक हाई 2,041.15 रुपये है। फार्मा कंपनी में शेयर होल्डिंग सितंबर 2023 तिमाही में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी बिना बदलाव के 76.50 फीसदी पर बनी हुई है। वहीं, सितंबर तिमाही में म्यूचुअल फंड ने होल्डिंग्स 3.92 फीसदी से घटाकर 3.90 फीसदी कर दी है।

ये है कंपनी की बाजार में स्थिति

भारत की चौथी सबसे बड़ी फार्मास्युटिकल कंपनी मैनकाइंड का शेयर इसी साल शेयर बाजार में लिस्ट हुआ था। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर ये शेयर 20 प्रतिशत प्रीमियम के साथ 1,300 रुपए प्रति शेयर के भाव पर लिस्ट हुआ। इसके लिए इश्यू प्राइस 1,080 रुपए प्रति शेयर तय किया गया था। मैनकाइंड फार्मा ने कहा कि साल 2023 की चौथी तिमाही में कंपनी का मुनाफा पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही के ₹190 करोड़ से बढक़र ₹285.4 करोड़ पर पहुंच गया है।

बता दें कि कंपनी को निजी इक्विटी फर्म क्रिस कैपिटल और कैपिटल इंटरनेशनल का सपोर्ट मिला हुआ है। कंपनी की स्थापना रमेश जुनेजा ने की थी। यह 1995 में पूरी तरह से इंटीग्रेटेड फार्मास्युटिकल कंपनी बनी। मैनकाइंड फार्मा ने बीते साल 1872 करोड़ रुपए में भारत और नेपाल में लिस्टेड प्लेयर पैनासिया बायोटेक के फॉर्मूलेशन ब्रांडेस का अधिग्रहण किया था।

 

Advertisement