लाइसेंस नवीनीकरण नहीं करवाने पर Fortune Hospital फिर किया सील

कौशाम्बी (उप्र)। लाइसेंस Renewal नहीं करवाने पर Fortune Hospital को सील कर दिया गया है। यह कार्रवाई स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने की। संयुक्त जिला चिकित्सालय के पास ही स्थित इस प्राइवेट अस्पताल में License renewal नहीं करवाया गया था। बताया गया है कि जांच के बाद इसे करीब 15 दिन पहले सील किया गया था। अब दोबारा से इस अस्पताल को सील कर दिया गया है।

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इसके अलावा भी दो अन्य निजी अस्पतालों का निरीक्षण किया। मौके पर अस्पताल में चिकित्सक नहीं मिले। इस पर अस्पताल संचालक को नोटिस जारी किया है। यह जानकारी मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सुष्पेंद्र कुमार ने दी है।

15 दिन पहले किया था सील

सीएमओ डॉ. सुष्पेंद्र कुमार को सूचना मिली थी कि ओसा रोड मंझनपुर स्थित फॉच्र्यून मैटरनिटी एंड चाइल्ड केयर नामक अस्पताल (Fortune Hospital) सील होने के बाद भी चलाया जा रहा है। इस अस्पताल के लाइसेंस का नवीनीकरण नहीं करवाया गया था। इस पर बीती 28 नवंबर को सीएमओ के निर्देश पर इसे सील कर दिया गया था।

सीएमओ ने उप मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. हिन्द प्रकाश मणि, डॉ. केडी सिंह की संयुक्त टीम ने हॉस्पिटल का निरीक्षण करने भेजा। मौके पर अस्पताल पर सीलिंग के समय लगाया गया ताला टूटा हुआ मिला। टीम ने पुन: अस्ताल को सील करते हुए थाना मंझनपुर को इसकी सूचना दी है।

दो अन्य निजी अस्पतालों का निरीक्षण किया

इसके बाद टीम ने एनजीएम हॉस्पिटल ओसा रोड मंझनपुर का निरीक्षण किया। हॉस्पिटल पंजीकृत था। यहां मौके पर चिकित्सक नहीं मिले। इस पर हॉस्पिटल संचालक को नोटिस दिया गया। टीम गायत्री पॉलीक्लीनिक कोड़र दुवरा चौराहा पहुंची। यह पॉलीक्लीनिक भी रजिस्टर्ड मिला, लेकिन मौके पर कोई डाक्टर नहीं था। इन दोनों हॉस्पिटल को नोटिस जारी किए गए है।

रजिस्ट्रेशन का नवीनीकरण करवाने की हिदायत दी

सीएमओ डॉ. सुष्पेन्द्र कुमार ने मानक के विपरीत चल रहे अस्पताल संचालकों को हिदायत दी है। उन्होंने कहा कि नियमों की अनदेखी करने वाले अस्पतालों का रजिस्ट्रेशन कैंसिल किया जाएगा। अत: ऐसे अस्पताल संचालक अपना रजिस्ट्रेशन का नवीनीकरण जरूर करवा लें।

Advertisement