हरियाणा में सरकारी डॉक्टर हड़ताल पर, स्वास्थ्य सेवाएं बंद की

फतेहाबाद। हरियाणा के सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर आज हड़ताल पर चले गए हैं। डॉक्टरों ने ओपीडीए इमरजेंसी समेत सभी स्वास्थ्य सेवाएं भी बंद कर दी हैं।

इमरजेंसी सेवाएं भी प्रभावित

हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसेस के आह्वान पर शुक्रवार को सरकारी डॉक्टर कैजुअल लीव लेकर अनिश्चिकालीन हड़ताल पर चले गए। डॉक्टरों की हड़ताल के चलते स्थानीय नागरिक अस्पताल में ओपीडी बंद हो गई है। यहां तक कि इमरजेंसी सेवाएं भी प्रभावित हो रही है। मरीज इमरजेंसी में इलाज के लिए पहुंच रहे हैं, लेकिन यहां कोई डॉक्टर मौजूद नहीं है। उधर, सिविल सर्जन डॉ. संगीता अबरोल का कहना है कि अनुबंध पर लगे डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई गई है।

नागरिक अस्पताल में सभी ओपीडी बंद

एचसीएमएस के जिला प्रधान डॉ.भरत सहारण ने बताया कि आपातकाल स्थिति में डॉक्टर मानवता के नाते मौजूद रहेंगे। डॉ. भरत सहारण का कहना है कि मांगें न माने जाने तक अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी। डॉक्टरों की हड़ताल से नागरिक अस्पताल फतेहाबाद में ईएनटी, टीबी रोग विशेषज्ञ, नेत्र रोग विशेषज्ञ, चर्म रोग विशेषज्ञ, महिला रोग विशेषज्ञ, मनोचिकित्सक, बाल रोग विशेषज्ञ की ओपीडी बंद रही। बता दें कि नागरिक अस्पताल में रोजाना 650 से 700 मरीजों की ओपीडी होती हैं।

ये हैं मुख्य मांगें

जिला प्रधान डॉ.भरत सहारण के अनुसार वे काफी समय से अपनी मांगें शासन व प्रशासन के समक्ष रखते आ रहे हैं। उनकी मांगों पर गौर नहीं किया जा रहा। उनकी एसोसिएशन की मुख्य मांग है कि एसएमओ की सीधी भर्ती पर रोक लगाई जाए। पीजी के लिए बॉड राशि को एक करोड़ से घटाकर 50 लाख किया जाए। पीजी को लेकर पॉलिसी बनाई जाए आदि। उन्होंने कहा कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाएंगी, हड़ताल जारी रहेगी।

Advertisement