अस्पताल में इलाज कराने आए युवक की मौत, डॉक्टर हुए फरार

जांजगीर-चांपा (छत्तीसगढ़)। अस्पताल में अंगुठे का इलाज कराने आए युवक की मौत हो जाने का समाचार है। स्थानीय नायक नर्सिंग होम में जांजगीर के सरखो गांव से एक युवक अपने अंगूठे का इलाज कराने आया था। डॉक्टरों ने एक्स-रे लेने के बाद युवक का ऑपरेशन करने की तैयारी की। इसी दौरान युवक की मौत हो गयी।

यह है मामला

धनंजय साव (37 वर्ष) पैर के अंगूठे में चोट लगने के कारण इलाज कराने चांपा के नायक नर्सिंग होम गया था। डॉक्टरों ने एक्स-रे लेकर उसको दूसरे दिन ऑपरेशन करने की बात कही। दूसरे दिन युवक अपने बेटे के साथ नायक नर्सिंग होम में अंगूठे के ऑपरेशन के लिए पहुंचा। डॉक्टर ने ऑपरेशन करने से पहले युवक को एंटीबायोटिक इंजेक्शन लगाए इसके बाद युवक धनंजय साव की हालत बिगड़ गई। थोड़ी देर बाद उसकी मौत हो गई।

अस्पताल छोडक़र भागे डॉक्टर

मृतक के परिजनों ने मौत के कारणों के बारे में डॉक्टर से पूछताछ की। डॉक्टर इस बारे कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। डॉक्टरों ने कभी ब्रेन हेमरेज तो कभी अटैक से मौत का कारण बताया। जब परिजन हंगामा करने लगे तो डॉक्टर अस्पताल से लापता हो गए।

बिना गंभीर बीमारी के हो गई मौत

सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पहुंची। परिजनों ने डॉक्टर के ऊपर लापरवाहीपूर्वक इलाज करने का आरोप लगाते हुए अस्पताल में हंगामा किया। परिजनों का आरोप है कि धनंजय साव को कोई गंभीर बीमारी नहीं थी। पैर के अंगूठे में मामूली चोट लगने के कारण वह इलाज कराने नायक नर्सिंग होम पहुंचा था। तभी उनको कुछ इंजेक्शन लगाए गए। उसके बाद उसकी मौत हो गई।

अस्पताल

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर होगा खुलासा

इस बारे में डॉक्टर का कहना है कि इंजेक्शन के रिएक्शन से धनंजय साव की मौत हुई। जबकि परिजनों का आरोप है कि गलत इलाज और इंजेक्शन लगाने से धनंजय की मौत हुई है। युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया है। वहां से रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल पाएगा। फिलहाल पुलिस मामले में जांच में जुटी है।

Advertisement