सरकारी अस्पताल में मरीजों को टेस्ट के लिए भेज रहे बाहर, सीएम फ्लाइंग ने रेड कर दो दबोचे

सरकारी अस्पताल

चरखी दादरी (हरियाणा)। सरकारी अस्पताल में सीएम फ्लाइंग ने रेड कर लैब टेक्नीशियन व एक स्वीपर को रंगे हाथों काबू किया। ये दोनों अस्पताल में लैब सुविधा होने पर भी मरीज को निजी लैब में टेस्ट के लिए भेज देते थे। टीम ने इन कर्मचारियों से मरीज से लिए 500 भी बरामद किए हैं। दोनों कर्मचारियों को निजी लैब से कमीशन लेते थे। सीएम फ्लाइंग को सूचना मिली थी कि दादरी सिविल अस्पताल में मरीजों से लैब में जांच के लिए रुपये लिए जाते हैं।

यह है मामला

सामान्य अस्पताल में आने वाले मरीजों को यहां का लैब टेक्नीशियन बाहर भेजता है। वहां से कमीशन लेता है। एक स्वीपर भी उनके साथ मिला हुआ है। शिकायत के बाद सीएम फ्लाइंग टीम ने अस्पताल में छापा मारा। इस छापेमारी के लिए खंड कृषि अधिकारी हरबंस को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया था।

मरीज ने दी जानकारी

गांव खेड़ी पुरा निवासी मरीज दिनेश ने बताया कि वह पेट दर्द की शिकायत के बाद दादरी सामान्य स्थल में आया था। डॉक्टर ने टेस्ट लिखा तो वह सामान्य अस्पताल की लैब में पहुंचा। वहां लैब टेक्नीशियन ने यहां ये टेस्ट नहीं होगा बाहर होगा। लैब टेक्नीशियन ने कहा कि निजी लैब में 400 रुपए लगेंगे। रिपोर्ट के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। वह यहीं मिल जाएगी। उसने लैब टेक्नीशियन को 500 दे दिए। इसके बाद निजी लैब में उसका टेस्ट करवाया।

अस्पताल में थी टेस्ट किट

सीएम फ्लाइंग की रेड के दौरान पाया गया कि अस्पताल में टेस्ट किट हैं। लैब टेक्नीशियन रवि कुमार व एक स्वीपर दोनों मिलीभगत कर मरीजों को निजी लैब भेजते थे। निजी लैब से उनका कमीशन मिलता था। मैरिज दिनेश कुमार के साथ भी ऐसा ही किया गया था। आरोपी कर्मचारियों से दिनेश से टेस्ट के नाम पर लिए गए 500 भी बरामद किए हैं।

सरकारी अस्पताल

दोनों कर्मचारियों पर होगी विभागीय कार्रवाई

ड्यूटी मजिस्ट्रेट खंड कृषि अधिकारी हरबंस ने बताया कि दोनों कर्मचारियों के खिलाफ विभाग को लिखा गया है। पूरे मामले की रिपोर्ट तैयार कर संबंधित विभाग के अधिकारियों को पास भेजी गई है। जिनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Advertisement