स्वास्थ्य विभाग ने तीन पैथॉलाजी और एक अस्पताल को किया सील, पांच को थमाए नोटिस

सोनभद्र(उप्र)। स्वास्थ्य विभाग ने जिले में बिना डॉक्टर और प्रशिक्षित कर्मचारियों के चल रहे निजी अस्पतालों व पैथॉलाजी केंद्रों पर रेड की है। यहां निरीक्षण के बाद तीन पैथॉलाजी केंद्रों व एक अस्पताल को सील कर दिया है। इनके अलावा, पांच निजी अस्पतालों का रजिस्ट्रेशन कैंसिल करने के लिए नोटिस जारी किए गए हैं। दो अन्य अस्पतालों पर भी कार्रवाई की गई है। इन अस्पतालों में डॉक्टर मौके पर मौजूद नहीं हैं।

जांच के दौरान मिली थी कई खामियां

सीएमओ डॉ. अश्विनी कुमार के अनुसार निजी अस्पतालों के पंजीयन प्रभारी डॉ. जीएस यादव के नेतृत्व में टीम ने कई अस्पतालों व पैथॉलाजी केंद्रों का निरीक्षण किया था। जांच के दौरान कई खामियां उजागर हुई हैं। इनके आधार पर टीम ने कार्रवाई की है। अवैध रूप से संचालित सभी केंद्रों व अस्पतालों को सील करा दिया है। जिन अस्पतालों में डॉक्टर नहीं मिले, उन्हें नोटिस जारी किया है। उचित जवाब न मिलने पर उनका रजिस्ट्रेशन कैंसिल किया जाएगा।

अवैध रूप से चल रहे केंद्र सील किए

टीम को निरीक्षण के दौरान मधुपुर स्थित एबी पैथॉलाजी अवैध रूप से संचालित मिली। पंजीकरण न होने के कारण उसे सील कर दिया गया। मधुपुर में ही अवैध रूप से संचालित शिव पैथॉलाजी, ब्रह्मानंद पैथॉलाजी को भी सील कर दिया गया। पूर्वांचल हॉस्पिटल चतरा को अवैध संचालन के कारण सील कर दिया गया। इसके अलावा उरमौरा में सरिता हॉस्पिटल का संचालन बंद कराया गया।

इन अस्पतालों को सौंपा नोटिस

स्वास्थ्य विभाग

संकेत हॉस्पिटल राबर्ट्सगंज के कई बार हुए निरीक्षण में एक बार भी अस्पताल में चिकित्सक नहीं मिले। इस अस्पताल का रजिस्ट्रेशन कैंसिल करने के लिए नोटिस जारी किया है। वहीं, इमरती कॉलोनी स्थित सिटी हॉस्पिटल, परमहंस हॉस्पिटल, केकराही स्थित उपकार हॉस्पिटल केकराही, लाइफ केयर हॉस्पिटल में लगातार निरीक्षण करने पर चिकित्सक नहीं मिलने के कारण पंजीकरण निरस्त करने के लिए नोटिस दिया गया है। यश दीप हॉस्पिटल रामगढ़ के निरीक्षण में चिकित्सक नहीं मिला। इनसे स्पष्टीकरण मांगा गया है।

Advertisement