सन फार्मा कंपनी के चार लाख रुपये के अवैध इंजेक्शन जब्त, युवक गिरफ्तार

inj

नोएडा। सन फार्मा कंपनी में निर्मित इंजेक्शन घर में बने अवैध गोदाम से जब्त किए गए है। आरोपी युवक इन इंजेक्शन की सप्लाई नोएडा के अस्पतालों और मेडिकल स्टोर पर करता था। इस मामले का भंडाफोड़ खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम ने किया है। आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। उसे सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

यह है मामला

जिला औषधि निरीक्षक वैभव बब्बर ने बताया कि उन्हें इंजेक्शन की अवैध रूप से सप्लाई करने की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर गाजियाबाद के औषधि निरीक्षक व सेक्टर-63 थाना पुलिस की टीम ने सेक्टर-63 के पास जाल बिछाया। टीम ने दिल्ली के लक्ष्मी नगर निवासी विमल गुप्ता को मौके से गिरफ्तार कर लिया। जांच में पता चला कि आरोपी ने लक्ष्मीनगर स्थित अपने घर में इंजेक्शन का स्टोर बना रखा था। वहां से स्कूटी पर नोएडा क्षेत्र में अवैध रूप से इंजेक्शन की सप्लाई करता था।

औषधि क्रय-विक्रय का लाइसेंस नहीं

आरोपी विमल के पास औषधि क्रय-विक्रय का कोई लाइसेंस नहीं पाया गया। टीम ने दिल्ली से भी करीब 9 लाख रुपये कीमत के इंजेक्शन जब्त किए हैं। औषधि निरीक्षक ने बताया कि बरामद किए गए इंजेक्शन का इसतेमाल हार्मोन ग्रोथ के लिए किया जाता है। यह इंजेक्शन सन फार्मा कंपनी में निर्मित बताए गए हैं। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया वह लक्ष्मीनगर से गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद और हरियाणा के विभिन्न अस्पताल व मेडिकल स्टोर पर इंजेक्शन की सप्लाई कर रहा था।

इंजेक्शन के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे 

 

सन फार्मा
औषधि निरीक्षक के अनुसार बरामद इंजेक्शन के सैंपल लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजे गए हैं। उन्होंने बताया कि अस्पतालों और मेडिकल स्टोरों पर जांच अभियान चलाया जाएगा।
Advertisement