ड्रोन से दवा और सैंपल 120 किलोमीटर दूर तक भेजने का ट्रायल हुआ सफल

भुवनेश्वर। ड्रोन के जरिए दवा, वैक्सीन और सैंपल 120 किलोमीटर दूर तक भेजने के ट्रायल सफल हो गया है। यह सफलता एम्स भुवनेश्वर को मिली है।

बता दें कि कई बार समय पर दवा नहीं मिल पाने से मरीज का इलाज नहीं हो पाता। ऐसे में मरीज की मौत भी हो जाती है। लोगों को समय पर इलाज मुहैया कराने व गांव-कस्बे तक मरीजों को दवाइयां पहुंचाने का रास्ता एम्स ने निकाला है। भुवनेश्वर स्थित एम्स ने इसके लिए सफल ड्रोन ट्रायल किया है। इस ड्रोन से करीब 120 किलोमीटर तक लोगों को दवाइयां भेजी जा सकेंगी।

एम्स भुवनेश्वर ने किया ट्रायल

एम्स भुवनेश्वर ने ओडिशा में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए ड्रोन का सफल ट्रायल किया है। एम्स भुवनेश्वर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, तांगी तक लगभग 2 किलोग्राम वजन तक जरूरी ब्लड ड्रोन से भेजे गए। ड्रोन से आवश्यक ब्लड भेजने में करीब 1 घंटा 10 मिनट का समय गया।

अब समय पर मरीजों को मिलेगी मेडिसिन

एम्स भुवनेश्वर के निदेशक आशुतोष बिस्वास ने कहा कि हमारे संस्थान का मकसद कम समय में लोगों की सेवा करना है। ड्रोन डिलीवरी को शामिल करने से ग्रामीण, आदिवासी और अर्ध-शहरी स्थानों में स्वास्थ्य सेवाओं को बढ़ावा मिल सकता है। ये ड्रोन वैक्सीन, आवश्यक दवाओं और सैंपल सहित कई हेल्थ प्रोजक्ट को ले जा सकते हैं।

इमरजेंसी के दौरान मिलेगी मदद

एम्स भुवनेश्वर के निदेशक का कहना है कि ड्रोन सेवा किसी भी प्राकृतिक आपदा के दौरान आपातकालीन चिकित्सा, ब्लड सैंपल, ब्लड प्रोडक्ट आदि जैसे दूरदराज के क्षेत्रों में महत्वपूर्ण चिकित्सा सप्लाई की समय पर डिलीवरी कर सकती है। यह ड्रोन 5 किलोग्राम तक वजन उठा सकता है। वहंी 160 किलोमीटर तक की यात्रा कर सकता है।

Advertisement