अस्पताल से रेहड़ी पर ले जाना पड़ा शव, अधीक्षक और फार्मासिस्ट सस्पेंड

पीलीभीत। अस्पताल से एंबुलेंस न मिल पाने पर एक वृद्धा के शव को रेहड़ी पर ले जाने का मामला आया है। इस मामले का वीडियो वायरल होने पर सीएमओ ने सीएचसी के अधीक्षक और फार्मासिस्ट को हटा दिया गया है। वहीं, वार्ड बॉय एनके पांडेय को निलंबित कर दिया है।

यह है मामला

बिलसंडा क्षेत्र के गांव गौहनिया में झोंपड़ी में आग लगने से एक वृद्धा झुलस गईं थी। महिला को उसके परिजन रात में ही सीएचसी लेकर आए थे। चिकित्सक ने देखा तो उनकी मौत हो चुकी थी। एंबुलेंस न मिलने पर परिजन मजबूरन शव को रेहड़ी पर ले गए।

घटना का वीडियो वायरल

इस घटना का वीडियो वायरल होने पर सीएमओ ने संज्ञान लिया और जांच कराई। प्रथम दृष्टया दोषी पाते हुए बिलसंडा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ. मनीष शर्मा और फार्मासिस्ट एमएन अंसानी को और वार्ड बॉय को वहां से हटा दिया। तीनों को मुख्यालय से अटैच कर दिया है। वहीं, पूरे मामले की गहनता से जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की है।

मामले की करवाई जा रही जांच 

इधर, एमओआईसी डॉ. महेश शर्मा का कहना है कि परिजन जब वृद्धा को लाए तो वह बुरी तरह से झुलसीं थी। उनकी मौत हो चुकी थी। परिजन खुद शव को लेकर चले गए। शव किससे ले गए इसकी जानकारी नहीं मिली है। वहीं, सीएमओ डॉ. आलोक कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया दोषी पाए जाने पर वार्ड बॉय को निलंबित करते हुए तीनों को हटा दिया है। फिलहाल पूरे मामले की जांच करवाई जा रही है।

Advertisement