एफडीए ने फर्जी दवा रैकेट का भंडाफोड़ किया, अस्पताल से 21600 गोलियां बरामद

मुंबई। एफडीए ने फर्जी दवा रैकेट का भंडाफोड़ कर सरकारी अस्पताल से 21600 गोलियां बरामद की हैं। महाराष्ट्र खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने नागपुर के एक सरकारी अस्पताल में छापामारी की। मौके से 21,600 गोलियां जब्त की गई हैं। एफडीए अधिकारी ने बताया कि ये गोलियां एंटीबायोटिक सिप्रोफ्लोक्सासिन हैं। इस बरामदगी में ठाणे निवासी एक व्यक्ति समेत तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

इस सरकारी अस्पताल से की बरामदगी

एफडीए के एक अधिकारी ने बताया कि जब्त की गई दवाइयां बीते साल सरकारी अनुबंध प्रक्रिया के तहत खरीदी गई थी। इसे हाल ही में इंदिरा गांधी सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल से जब्त किया गया। यह जिले में सरकारी सुविधाओं के लिए दवाओं की सप्लाई करता है।

सिप्रोफ्लोक्सासिन की मिली नकली गोलियां

करोड़ों रुपये मूल्य की सिप्रोफ्लोक्सासिन की नकली गोलियां महाराष्ट्र के कई सरकारी अस्पतालों में सप्लाई की गई थीं। पुलिस के अनुसार, मार्च 2023 में एफडीए ने नागपुर के कलमेश्वर तहसील में एक सरकारी स्वास्थ्य सुविधा केंद्र से सिप्रोफ्लोक्सासिन गोलियों के सैंपल लेकर इन्हें जांच के लिए लैब में भेजा था। दिसंबर 2023 में आई रिपोर्ट से पता चला कि गोलियां नकली हैं। इनमें सिप्रोफ्लोक्सासिन नामक तत्व मौजूद ही नहीं था।

 

Advertisement