कैल्शियम और विटामिन डी की दवाएं मिली कम गुणवत्ता वाली, कंपनी पर केस

धनबाद । कैल्शियम और विटामिन डी की दवाएं सब स्टैंडर्ड यानी कम गुणवत्ता वाली पाई गई हैं। जांच के दौरान इन दवाओं की गुणवत्ता तय मानकों के अनुरूप नहीं मिली। बताया गया है कि ये दवाइयां तोपचांची सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) में मरीजों को बांटी गई थी। ड्रग इंस्पेक्ट रंजीत चौधरी ने संबंधित दवा निर्माता कंपनी और दवा की सप्लाई करने वाली एजेंसी के खिलाफ कोर्ट में केस दर्ज करवा दिया है।

यह है मामला

पूर्व ड्रग इंस्पेक्टर ने करीब नौ महीने पहले तोपचांची सीएचसी की दवाओं का सौंपल लिया था। इन सैंपलों की जांच लेबोरेटरी में कराई गई। अब इसकी जांच रिपोर्ट आई है। रिपोर्ट में वहां से ली गई दवाओं के सैंपल में कैल्शियम और विटामिन डी की दवाएं सब स्टैंडर्ड पाई गई हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद उक्त दोनों दवाओं का निर्माण करने वाली कंपनी और इसकी सप्लायर एजेंसी के खिलाफ कोर्ट में मामला दर्ज करा दिया गया है।

बलियापुर सीएचसी में भी दवाएं मिली खराब

बताया गया है कि बलियापुर सीएचसी से भी दवाओं का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया था। उसकी जांच रिपोर्ट में भी कैल्शियम और विटामिन डी की दवा ही सब स्टैंडर्ड मिली थी। इस मामले में पूर्व में केस किया जा चुका है। बता दें कि तोपचांची और बलियापुर सीएचसी में सब स्टैंडर्ड मिली कैल्शियम और विटामिन डी की दवाओं की आपूर्ति जिले से की गई थी। एजेंसी ने जिले को दवाइयां भेजी थी। यहीं से उक्त दोनों सीएचसी समेत धनबाद सदर अस्पताल व अन्य सभी स्वास्थ्य केंद्रों में न दवाओं को भेजा गया।

मरीजों को बांटी गई सब स्टैंडर्ड दवाएं

कैल्शियम

अधिकारियों के अनुसार इन दो केंद्रों से लिए गए सैंपल की जांच रिपोर्ट के आधार पर यह कहा जा सकता है कि पूरे जिले में बांटी गईं ये दवाएं तय मानक के अनुरूप नहीं थीे। यानी मरीजों ने सब स्टैंडर्ड दवाएं खाई हैं। जांच में टीबी विभाग को दी गई एक दवा भी पिछले दिनों सब स्टैंडर्ड मिली थी। यह दवा धनबाद समेत कई जिलों में भेजी गई थी। इस मामले में भी कार्रवाई की गई है।

Advertisement