नकली नशीली दवाइयां बनाने का भंडाफोड़, एक करोड़ की दवाइयां जब्त

कोलकाता (पश्चिम बंगाल)। मकान में नकली नशीली दवाइयां बनाने का भंडाफोड़ हुआ है। मौके से एक करोड़ की नकली दवा बनाने की सामग्री जब्त की गई है। यह कार्रवाई पश्चिम बंगाल पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम ने की।

बंद मकान में चलाई जा रही थी अवैध फैक्ट्री

एसटीएफ अधिकारियों ने बताया कि नकली नशीली दवाइयों के अलावा ब्रांडेड कंपनियों की नकली दवाइयां बनाने वाले एक ठिकाने का पता चला। हुगली जिले के मगरा थानाक्षेत्र में स्थित खाली पड़े एक मकान के अंदर चोरी-छिपे चल रही ब्रांडेड कंपनियों की नकली दवाइयां बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी गई है। यहां से एक करोड़ रुपये से ज्यादा की नकली दवाइयां बनाने की सामग्री जब्त की गयी है।

दवा बनाने की मशीनें और कैमिकल जब्त

टीम ने मौके से दवाइयां बनाने की मशीनों और दवा बनाने के वाले केमिकल को भी जब्त कर लिया है। एसटीएफ ने इस बारे में जिले के ड्रग कंट्रोलर अधिकारी को भी सूचना दे दी है। संबंधित मकान को सील कर दिया गया है।

आरोपी ट्रक चालक ने खोला राज

अधिकारियों ने बताया कि गुप्त जानकारी के आधार पर कांचरापाड़ा-गाईघाटा रोड पर 40 लाख रुपये मूल्य की नशीली दवा से भरा ट्रक कब्जे में लिया था। आरोपी ट्रक के चालक कोलकाता के मेंगोलेन निवासी उपेंद्र कुमार महतो को गिरफ्तार कर लिया था। उपेंद्र से पूछताछ में पता चला कि यह दवाइयां बनगांव इलाके में ले जा रहा था। इसके बाद इसे बांग्लादेश भेजा जाना था।

उसने बताया कि कि हुगली जिले के मगरा थानाक्षेत्र में स्थित एक मकान है। उसका मेन गेट बाहर से बंद रहता है। मकान के भीतर फैक्ट्री चल रही है। इसमेंचोरी-छिपे नशीली दवाओं के अलावा अन्य ब्रांडेड कंपनियों की नकली दवाइयां भी बनाई जाती हैं। वहीं से उसने इन 40 लाख की दवाओं को ट्रक में भरा था।

मकान को सील किया

पुलिस के अनुसार आरोपी उपेंद्र से मिली जानकारी के बाद हुगली जिले के मगरा इलाके में उक्त बंद मकान पर छापामारी की गई। वहां नशीली नकली दवा बनाने के लिए मशीन, प्लास्टिक का डब्बा, ब्रांडेड कंपनियों के लेबल और काफी तरह का पाउडर और केमिकल जब्त किया गया।

नकली नशीली दवाइयां

पुलिस ने गोदाम में मौजूद करीब एक करोड़ रुपये मूल्य की नकली दवाइयां बनाने वाली केमिकल एवं पाउडर के अलावा वहां मौजूद अन्य सामग्री को जब्त कर लिया है।. इसके बाद पूरे गोदाम व मकान को सील कर दिया गया है। छापामारी के दौरान मौके पर कोई नहीं मिला। फिलहाल, इस गिरोह के अन्य सदस्यों की जानकारी जुटाई जा रही है।

Advertisement