ड्रग कंट्रोलर ने डीएम के आदेशों को दिखाया ठेंगा, ऑफिस पर 10 बजे बाद भी लटका मिला ताला

शामली। ड्रग कंट्रोलर को डीएम के आदेशों को कोई परवाह नहीं है। शायद इसी कारण उनके ऑफिस पर सुबह 10 बजे के बाद भी ताला लटका मिला है। बता दें कि जिलाधिकारी ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों को सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक अपने ऑफिस में बैठकर जनसुनवाई किए जाने के सख्त निर्देश दिए हुए हैं। स्थानीय औषधि निरीक्षक के कार्यालय पर सुबह 10 बजे के बाद भी ताला लटका पाया गया। इस कारण औषधि निरीक्षक के कार्यालय पर आने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। वहीं, अपर जिलाधिकारी ने मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी है।

यह है मामला

गौरतलब है कि जिलाधिकारी रविंद्र सिंह ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों को सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक अपने ऑफिस में बैठकर जनसुनवाई करने के आदेश दिए हुए हैं। इसके बावजूद, कस्बा बनत में डीएम के आदेशों की धज्जियां उस समय उड़ती हुई देखने को मिली, जब सुबह 10 बजे के बाद तक भी औषधि निरीक्षक निधि पांडे के कार्यालय पर ताला लटका मिला।

इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि औषधि निरीक्षक जिलाधिकारी के आदेशों के प्रति कितनी जिम्मेदार हंै। बताया जा रहा है कि औषधि निरीक्षक कई -कई दिनों तक अपने कार्यालय में नहीं आती। इससे वहां पर समस्या लेकर आने वाले लोगों को बेवजह ही रोज-रोज औषधि निरीक्षक के कार्यालय के चक्कर काटने पड़ रहे हैं।

जांच के लिए टीम गठित

वहीं, इस मामले में अपर जिलाधिकारी संतोष कुमार का कहना है कि समय-समय पर अधिकारियों के कार्यालयों का निरीक्षण करते हैं। संज्ञान में आया है कि जनसुनवाई के समय के दौरान औषधि निरीक्षक के कार्यालय के गेट पर ताला लगा हुआ मिला है। औषधि निरीक्षक के खिलाफ पहले भी कई बार शिकायतें मिल चुकी हैं। इस संबंध में जिला प्रशासन द्वारा टीम गठित कर जांच बिठाई गई है। उन्होंने कहा कि अगर कोई अधिकारी बिना किसी सूचना के अपने ऑफिस से लापता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

Advertisement