नशीली दवा के तस्कर को गोवा के जंगल से दबोचा, भेजा जेल

मुंबई। नशीली दवा की तस्करी के आरोप में एक नाइजीरियन युवक को गिरफ्तार किया गया है। यह कार्रवाई मुंबई के राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) के अधिकारियों ने की। टीम ने गोवा के अंजुना के जंगलों से नशीली दवाओं की तस्करी करने वाले गिरोह के प्रमुख सदस्य नाइजीरियाई नागरिक को गिरफ्तार करने में सफलता पाई।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि एजेंसी ने तटीय राज्य में आरोपी के किराए के मकान से 39 ग्राम कोकीन और 6 लाख रुपये बरामद किए। जांच के दौरान यह भी पता चला कि आरोपी पिछले कुछ सालों से अवैध रूप से भारत में रह रहा था।

गोवा से चला रहा था रैकेट

वह गोवा से एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग सिंडिकेट का संचालन कर रहा था। डीआरआई की मुंबई और गोवा जोनल टीमों के अधिकारियों ने संयुक्त ऑपरेशन चलाया। जांच एजेंसी मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर कार्रवाई कर रही थी। इस दौरान एक थाई महिला के पास से 4 किलो कोकीन बरामद हुई।

ऐसे आया पकड़ में आरोपी

गिरफ्तार थाई महिला ड्रग सिंडिकेट के लिए भारत में प्रतिबंधित सामग्री की तस्करी करने की कोशिश कर रही थी। जांच के दौरान यह भी पता चला कि एक नाइजीरियाई नागरिक इस सिंडिकेट के प्रमुख सदस्य के रूप में गोवा से इस अंतरराष्ट्रीय सिंडिकेट के मामलों का संचालन और प्रबंधन कर रहा था। निगरानी के बाद डीआरआई ने उसे उत्तरी गोवा के अंजुना इलाके में ढूंढ निकाला। हालांकि, आरोपी को शक हो गया और वह भागने की कोशिश में पास के घने जंगल में भाग गया। जंगल के रास्तों में करीब 20 मिनट तक चले ऑपरेशन के बाद आरोपी को पकड़ लिया गया।

आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा

डीआरआई ने कहा कि पूछताछ के दौरान आरोपी ने भारत में मादक पदार्थों की तस्करी गतिविधियों में अपनी भूमिका स्वीकार की। उसने स्थानीय ड्रग तस्करों और उनके ग्राहकों को नशीले पदार्थों का सप्लायर होने की बात भी स्वीकार की। आरोपी को नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम मामलों में पहले भी दो बार गिरफ्तार किया गया था। वह बिना किसी परमिट के भारत में रह रहा था। आरोपी को मुंबई कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

Advertisement