फार्मा फैक्टरी पर रेड, नकली दवाओं के निर्माण मामले में जांच

कोटद्वार। फार्मा फैक्टरी पर छापामारी कर नकली दवाइयां बनाने और बेचने के मामले की जांच की गई है। तेलंगाना के ड्रंग इंस्पेक्टर की अगुवाई में एक टीम ने स्थानीय पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ सिगड्डी सिडकुल में स्थित फार्मा फैक्टरी पर रेड की। नकली दवाइयों के बारे में पूछताछ की गई है।

नकली दवा सप्लाई की मिली थी सूचना

बताया जा रहा है कि तेलंगाना में कुछ नकली दवाइयों की खेप पकड़ी गई है जिसके तार कोटद्वार के सिगड्डी सिडकुल की एक फैक्टरी से जुड़े बताए जा रहे हैं। टीम देर तक तक फैक्टरी को खंगालती रही। हालांकि अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि टीम को यहां नकली दवाएं मिली या नहीं।

नकली दवाओं के चार सप्लायर पकड़े गए थे

बताया गया है कि यह वही फैक्टरी है, जिसमें कोरोना काल के दौरान अप्रैल 2021 में दिल्ली में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनने व बेचने का नाम सामने आया था। तब दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने यहां छापा मारा था, हालांकि तब यहां कुछ भी बरामद नहीं हुआ।

बीते वर्ष सितंबर में गाजियाबाद में भी कोटद्वार से नकली दवाइयों की खरीद-फरोख्त की बात सामने आई थी। तब वहां की पुलिस ने चार सप्लायरों को गिरफ्तार कर उनके पास से भारी मात्रा में नकली दवा बरामद की थी। आरोपियों ने कोटद्वार में ही नकली दवाओं के निर्माण की बात स्वीकारी थी।

पुलिस और खुफिया तंत्र अलर्ट

कोटद्वार में नकली दवाओं की सूचना से पौड़ी जिले की पुलिस और खुफिया तंत्र अलर्ट मोड़ पर आ गए हैं। सूचना के बाद से सिगड्डी सिडकुल एरिया में चल रहीं फार्मा कंपनियों के संचालकों में हडक़ंप मचा हुआ है।

Advertisement