स्वास्थ्य विभाग ने झोलाछाप डॉक्टरों के क्लीनिकों पर की छापामारी, कसी लगाम

सुल्तानपुर। स्वास्थ्य विभाग ने झोलाछाप डॉक्टरों पर लगाम कसनी शुरू कर दी है। सीएमओ द्वारा गठित टीम ने शहर के नार्मल कंपाउंड स्थित सुपर मार्केट में औचक छापामारी की। टीम ने दो क्लीनिकों पर छापामारी की। इनको तीन दिन के अंदर चिकित्सा संबंधी वैध दस्तावेज प्रस्तुत करने को कहा गया है।

सूचना मिलने पर जिले के स्वास्थ्य विभाग मुखिया डॉ. ओम प्रकाश चौधरी ने डिप्टी सीएमओ डॉ. पीडी त्रिपाठी, वरिष्ठ सहायक विजय राय, वसीम अहमद व सुशील कुमार सिंह की टीम गठित की। टीम ने सुपर मार्केट में चलने वाले फर्जीवाड़े पर छापामारी की। मौके पर कई डॉक्टरों की वास्तविकता खंगाली।

चिकित्सा संबंधी दस्तावेज नहीं मिला

टीम ने सुपर मार्केट में चर्मरोग विशेषज्ञ बताने वाले डॉ. पीके त्रिपाठी न्यू सिटी मेडिकल स्टोर व डिहवा स्थित या वारिस नूर क्लिनिक पर छापा मारा। स्वास्थ्य विभाग की टीम के मांगे जाने पर डॉ पीके त्रिपाठी व या वारिस नूर क्लिनिक के पास कोई भी चिकित्सा संबंधी दस्तावेज नहीं मिला। दोनों को तीन दिन का समय दिया गया है। समय सीमा के अंदर यदि इन्होंने चिकित्सा संबंधी वैध दस्तावेज उपलब्ध नहीं करवाए तो विभाग इनके खिलाफ ठोस कार्रवाई करेगा।

सुपर मार्केट में अफरा-तफरी का माहौल

बता दें कि सुपर मार्केट मेडिकल मंडी के नाम से मशहूर है। यहां जिले के ही नहीं प्रदेश के नामचीन डॉक्टरों की ओपीडी होती है। इन्ही के बीच झोलाछाप डॉक्टर भी फर्जी डिग्री से अपनी दुकानें खोलकर मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हंै। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर ओमप्रकाश चौधरी ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि झोलाछाप डॉक्टरों पर विभाग गंभीर कार्रवाई करेगा। छापेमारी से सुपर मार्केट में अफरा-तफरी का माहौल बना रहा।

Advertisement