मेडिकल के नाम पर रिश्वत लेने में फंसा फार्मासिस्ट, किया ट्रांसफर

कंपाउंडर

बदायूं। मेडिकल के नाम पर महिला से छह हजार रुपये रिश्वत लेने के मामले में फार्मासिस्ट पर गाज गिर गई है। आरोपी फार्मासिस्ट हरपाल को उसके मूल तैनाती के स्थान कादरचौक सीएचसी पर ट्रांसफर कर दिया गया है। बता दें कि वह चार साल से जिला अस्पताल से संबद्ध था।

यह है मामला

अलापुर थाना क्षेत्र के गांव बमनी निवासी सोमवती से मेडिकल मुआयना में धाराएं बढ़ाने के नाम पर छह हजार रुपये की वसूली का मामला सामने आया था। बाद में सामान्य मेडिकल रिपोर्ट मिलने पर इमरजेंसी में काफी हंगामा हुआ था। मामले में फार्मासिस्ट हरपाल पर आरोप लगे थे।

वार्ड ब्वाय ने डॉक्टर को भी किया था गुमराह

सीएमएस डॉ. कप्तान सिंह ने वार्ड व्बाय दीक्षित कुमार उर्फ डीके और राजू को निलंबित कर दिया था। जांच के लिए डॉ. अमित वाष्र्णेय के निर्देशन में तीन सदस्यों की कमेटी ने बीते दिन ही फार्मासिस्ट और डॉक्टर के बयान लिए थे। जांच में प्रथम दृष्टया फार्मासिस्ट हरपाल सिंह पर लगे आरोप काफी हद तक सही पाए गए। जांच में यह भी सामने आया है कि हरपाल सिंह समेत दोनों वार्ड ब्वाय ने डॉक्टर को भी गुमराह किया था।

जांच कमेटी की रिपोर्ट का इंतजार

सीएमएस डॉ. कप्तान सिंह के अनुसार आरोपी फार्मासिस्ट की संबद्धता खत्म कर दी गई है। मूल रूप से शेखूपुर सीएचसी पर तैनात फार्मासिस्ट तनवीर की संबद्धता खत्म करने के लिए भी लिखा गया है। जांच कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement