नशीली टैबलेट की तस्करी का भंडाफोड़, 5 करोड़ की दवाओं के साथ 3 अरेस्ट

अगरतला। नशीली टैबलेट की तस्करी का भंडाफोड़ किया गया है। त्रिपुरा पुलिस ने बागबासा नाका पॉइंट के पास अगरतला जा रहे एक वाहन को रोककर 55 हजार मेथामफेटामाइन टैबलेट जब्त की। बरामद की गई दवाओं की कीमत 5 करोड़ रुपये बताई गई है। पुलिस ने आरोपी तीन तस्करों को गिरफ्तार कर लिया है।

यह है मामला

उत्तरी त्रिपुरा जिले के पुलिस अधीक्षक भानुपद चक्रवर्ती ने बताया कि पुलिस को नशीली दवा तस्करी की गुप्त सूचना मिली थी। पुलिस टीम ने सूचना पर कार्रवाई करते हुए त्रिपुरा-असम अंतर्राज्यीय सीमा पर बागबासा में एक वाहन को रोका। वाहन की तलाशी लेने पर उसमेें नशीली मेथामफेटामाइन टैबलेट बरामद हुई। इस टैबलेट को याबा टैबलेट या पार्टी टैबलेट भी कहा जाता है। बरामद की गई दवाओं की कीमत 5 करोड़ रुपये बताई गई है।

ड्रग की तस्करी म्यांमार से की गई

पुलिस अधिकारी के अनुसार ड्रग की तस्करी म्यांमार से की गई। इसे मिजोरम और असम राज्यों के जरिए त्रिपुरा लगाया गया। गिरफ्तार किए गए ड्रग तस्कर दक्षिणी असम के करीमगंज के निवासी हैं। गौरतलब है कि म्यांमार से तस्करी कर लाई गई मेथामफेटामाइन टैबलेट हाल के वर्षों में सबसे अधिक तस्करी वाली ड्रग में से एक है। इस ड्रग की पूर्वोत्तर राज्यों, भारत के अन्य हिस्सों और पड़ोसी बांग्लादेश में भारी मांग है।

उधर, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने ड्रग बरामदगी पर पुलिस की सराहना की। सीएम ने अपने एक्स अकाउंट पर पोस्ट किया कि नशा मुक्त भारत के निर्माण के हमारे दृष्टिकोण के प्रति त्रिपुरा पुलिस की भूमिका सराहनीय है।

Advertisement