ऑनलाइन दवा व्यापार के खिलाफ दवा दुकानदारों ने खोला मोर्चा

इन्दौर। ऑनलाइन दवा व्यापार के खिलाफ दवा दुकानदारों ने अभियान शुरू कर दिया है। ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट और ड्रगिस्ट ने ऑनलाइन दवा खरीदने-बेचने और अजनबी लोगों से व्यापार करने के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

अभियान की शुरुआत इंदौर से

इस अभियान की शुरुआत इंदौर से ही शुरू की गई है। संगठन ने देश के सभी दवा व्यापारियों से कहा है कि वे अपनी जान-पहचान वाले व्यापारी से ही दवा व्यापार करें। कम कीमत और ज्यादा लाभ के चक्कर में ऑनलाइन दवा मंगवाने वाले हर रोज ठगी का शिकार हो रहे हैं। ऑनलाइन मेडिसिन के झांसे में फंसकर मरीज के अलावा कई दवा व्यापारी भी लाखों-करोड़ों का नुकसान उठा चुके हैं।

ऑर्गनाइजेशन के सचिव राजीव सिंघल ने बताया कि ऑनलाइन दवा व्यापार के खिलाफ़ उनके संगठन के पदाधिकारियों ने अपने-अपने शहर अथवा सभी राज्यों में मुहिम छेड़ दी है। इस अभियान का एक ही नारा है कि हम जिससे व्यापार करें, वो हमारा परिचित व्यापारी हो। इस वजह से हम ऑनलाइन या अन्य दूसरे माध्यम से हो रही ठगी और धोखाधड़ी से बच जाएंगे।

उनहोंने बताया कि हाल ही में नकली दवा और दवाइयों के व्यापार में छापामार कार्रवाई में करोड़ों रुपए की नकली दवाएं बरामद हुई हैं। अकेले महाराष्ट्र में लगभग 52 करोड़ की नकली दवाए पकड़ी गई हैं। इसके अलावा हैदराबाद में लाखों रुपए के नकली इन्सुलिन बरामद किए गए हैं।

ऑनलाइन दवा व्यापार के खिलाफ सचेत

इसी तरह दिल्ली में कैंसर के इलाज में इस्तेमाल होने वाला 1 लाख 90 हजार रुपए के इंजेक्शन में पानी भर कर कैंसर के अस्पतालों को भेज रहे थे। ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट और ड्रगिस्ट, दवा संगठन ने ऑनलाइन दवा व्यापार के खिलाफ सचेत किया हैं।

 

Advertisement