स्वास्थ्य मंत्री के बड़े बोल: बिना दवाई के कोई नहीं मरेगा

मधुबनी: केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि बिना दवाई के गरीब नहीं मरेगा। गरीबों को सस्ती दवाएं उपलब्ध कराने के लिए पीएम जनऔषधि योजना के तहत सरकारी अस्पतालों में दवा की दुकान खोलने का निर्णय लिया गया है जहां गरीबों को सस्ती दरों पर दवा मिलेगी। सरकारी अस्पतालों को आरोग्य मंदिर के रूप में विकसित किए जाने को लेकर कार्य शुरू कर दिया गया है।

मंत्री एसके चौधरी शिक्षा न्यास द्वारा संचालित कृषि विज्ञान केंद्र चानपुरा बसैठ के परिसर में आयोजित सम्मान समारोह का उद्घाटन करने पहुंचे। स्वास्थ्य सेवा की बदहाल स्थिति पर भावुक होते हुए उन्होंने गरीबों के दर्द पर यह बात कह कर मरहम लगाने का काम किया है। मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि तन, मन और विचार स्वच्छ हो जाए तो सुन्दर और स्वस्थ भारत बनेगा। 2022 तक भारत अंधापन से मुक्त हो जाएगा। दृष्टिहीनता को दूर करने के लिए सरकारी अस्पतालों में संसाधन सृदृढ़ किए जा रहे हैं। राज्यों में अंधापन निवारण के लिए भरपूर राशि दी जा रही है।