मेडिकल स्टोर मालिक के घर पर रेड, लाखों की प्रतिबंधित नशीली दवाइयां जब्त

नशीली गोलियां

धामपुर (बिजनौर)। मेडिकल स्टोर मालिक के घर पर छापामारी करके लाखों रुपये कीमत की प्रतिबंधित नशीली दवाइयां बरामद किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। यह छापेमारी औषधि विभाग ने की। जांच टीम ने आरोपी घर से कई दवाईयों के 62 डिब्बे बरामद किए हैं। मौके से आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। टीम ने आरोपी के खिलाफ ड्रग अधिनियम की धाराओं में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

यह है मामला

औषधि निरीक्षक उमेश भारती ने बताया कि प्रतिबंधित दवाइयां रखने की सूचना मिली थी। इस पर पुलिस टीम के साथ स्योहारा मार्ग स्थित एक मेडिकल स्टोर पर छापेमारी की। मेडिकल स्टोर पर दवाइयां न मिलने पर टीम ने आरोपी के घर पर दस्तक दी। जांच टीम को आरोपी के घर से प्रतिबंधित नशीली दवाइयों के 62 डिब्बे बरामद हुए हैं। आरोपी को मौके से हिरासत में ले लिया गया। बरामद डिब्बों में करीब 14000 हजार गोलियां मिली हैं।

जांच टीम ने आरोपी संदीप चौहान पुत्र घासी चौहान के खिलाफ कोतवाली में ड्रग अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

ये दवा बरामद

मेडिकल संचालक के घर पर हुई छापेमारी में पाईवन स्पॉस- 51 डिब्बे, ट्रमाजोल-1 डिब्बा, एलप्रेक्स- 6 डिब्बे, स्पाइस मैक्स -4 डिब्बे बरामद हुए हैं। जांच अधिकारी ने बताया कि एक डिब्बे में 30 स्ट्रिप मिली हैं। 30 स्ट्रिप में 240 गोलियां मिली हैं। आरोपी के कब्जे से करीब 14 हजार गोलियां बरामद हुई हैं।

छापेमारी के दौरान दवा के संबंध में न तो कोई बिल मिला और न ही कोई रिकार्ड। आरोप है कि मेडिकल संचालक नशे के कारोबार में लंबे समय से लिप्त चल रहा था। आरोपी युवक के एक भाई का भी नगीना चौराहे पर मेडिकल स्टोर है।

जांच में पता चला कि मेडिकल स्टोर संचालक नशाखोर नवयुवकों को नशीली दवाइयां उपलब्ध कराता था। वह घर से ही नशे के कारोबार को चला रहा था। दिनभर आरोपी के मेडिकल पर नशेड़ी युवाओं का दवाईयां लेने के लिए तांता लगा रहता था।

दो लाख रुपये की 14000 नशीली गोलियां बरामद

बिजनौर की औषधि निरीक्षक उमेश भारती ने बताया कि मेडिकल स्टोर संचालक के आवास पर छापेमारी कर करीब दो लाख रूपये की 14000 नशीली गोलियां बरामद की गई है। आरोपी संदीप के खिलाफ ड्रग अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है। जांच कर आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। रेड के चलते मेडिकल स्टोर संचालकों में हडक़ंप मच गया। कई दवा दुकानदार अपने स्टोर बंद कर फरार हो गए।

Advertisement