ठंडी वादियों में पहली मेडिकल यूनिवर्सिटी

मंडी (हिमाचल प्रदेश) : सूबे के बाशिंदों को विस चुनावों से पहले दीपावली पर्व का तोहफा मिल गया है। प्रदेश की पहली मेडिकल यूनिवर्सिटी मंडी के नेरचौक में शुरू हो गई है। इसका शुभारंभ सीएम वीरभद्र सिंह ने शिमला से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया। इसका नामकरण महात्मा गांधी हिमाचल प्रदेश हेल्थ साइंस यूनिवर्सिटी तय किया गया है।
एसएलबीएस मेडिकल कॉलेज नेरचौक के प्रधानाचार्य डॉ. डीएस धीमान ने बताया कि मेडिकल यूनिवर्सिटी के संचालन के लिए एसएलबीएस मेडिकल कॉलेज के प्रशासनिक भवन के दो फ्लोर भी आबंटित कर दिए गए है। अब प्रदेश में मेडिकल शिक्षा देने वाले सभी शिक्षण संस्थान इस यूनिवर्सिटी के अधीन रहेंगे।

बता दें कि प्रदेश में मुख्य रूप से 6 एमबीबीएस मेडिकल कॉलेज, 2 डेंटल कॉलेज, 64 नर्सिंग कॉलेज सहित दर्जनों अन्य मेडिकल शिक्षण संस्थान चल रहे हैं। इन पर अब सीधा कंट्रोल नेरचौक मेडिकल यूनिवर्सिटी का रहेगा। मेडिकल यूनिवर्सिटी से कार्यों के संचालन के लिए जरूरी विभिन्न पदों में सीधे तौर पर प्रदेश के करीब एक हजार लोगों को रोजगार का मौका मिलेगा। इसके अलावा अप्रत्यक्ष रूप से भी सैकड़ों लोगों को रोजगार मिलेगा। दूसरी ओर, इस मेडिकल यूनिवर्सिटी के शुरू होने से शिमला स्थित एचपीयू का वर्क लोड भी कम हो गया है। एचपीयू अब अपना समय अन्य कार्यों में दे सकेगी जिसका लाभ एचपीयू में उ‘च शिक्षा के लिए आने वाले छात्रों को मिलेगा।