नवजात की मौत के बाद हॉस्पिटल का लाइसेंस कैंसिल, फर्जी डॉक्टर फरार

कान्हा हॉस्पिटल

रायबरेली। नवजात की मौत के बाद हरचंदपुर के उपमा सरजूरानी पाली हॉस्पिटल का लाइसेंस कैंसिल कर दिया गया है। वहीं, अस्पताल का संचालक फर्जी डॉक्टर फरार हो गया है। पुलिस टीम उसकी तलाश कर रही है।

टेक्नीशियन ने प्रसूता को बेहोशी की दवा दी थी और उसी ने सिजेरियन प्रसव भी कर दिया था। इसके बाद नवजात की मौत हो गई थी। अस्पताल को बंद कर दिया गया है। मामले में संचालक के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज है।

यह है मामला

हरचंदपुर गांव निवासी आनंद मोहन श्रीवास्तव की पत्नी विशाखा (25) का बीते माह उपमा सरजूरानी पॉली क्लीनिक हरचंदपुर में सिजेरियन प्रसव किया गया था। प्रसव के बाद नवजात की मौत हो गई थी। मामले की जांच में सामने आया कि अस्पताल के संचालक नीरज श्रीवास्तव व उसकी पत्नी प्रियांशी ने डॉक्टर बनकर प्रसूता का ऑपरेशन किया था।

इसके बाद हुए बवाल के चलते अस्पताल संचालक के खिलाफ हरचंदपुर थाने में केस दर्ज कराया गया था। एसीएमओ डॉ. अरविंद कुमार की टीम ने जांच के बाद अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाओं को प्रतिबंधित कर दिया था। अब उसके लाइसेंस को कैंसिल कर अस्पताल को बंद करने के आदेश दिए गए हैं।

Advertisement