पैथोलॉजी को अवैध तरीके से चलाने पर किया सील, दवा दुकान से शराब बरामद

लांजी ,बालाघाट(मप्र)। पैथोलॉजी को अवैध तरीके से चलाने पर सील कर दिया गया है। यह कार्रवाई दशन पाली क्लीनिक पर जांच के बाद प्रशासनिक टीम ने की है। यहां लंबे समय से बिना अनुमति के पैथोलाजी व नर्सिंग होम का संचालन किया जा रहा था। जांच के दौरान दवा दुकान के अंदर से शराब की बोतलें भी बरामद की गई हैं।

सील तोडक़र फिर शुरू किया क्लीनिक

दशन पाली क्लीनिक पर अनियमतिताओं की शिकायत मिली थी। पिछले दिनों तहसीलदार, लांजी थाना प्रभारी एवं फारेंसिक टीम व बीएमओ ने मिलकर क्लीनिक की जांच की। इस दौरान क्लीनिक पर भारी अनियमितताएं मिली। इसके चलते टीम ने क्लीनिक को सील कर दिया था, लेकिन क्लीनिक प्रबंधन ने बिना जांच पूरी हुए सील तोडक़र फिर से इसका संचालन शुरू कर डाला।

इस बारे में जानकारी मिलने पर अधिकारियों की तीन सदस्यीय टीम मौके पर पहुंचीं। टीम में एसडीएम प्रदीप कौरव, एसडीओपी पुलिस सतेंद्र घनघोरिया और बीएमओ डा. प्रदीप गेडाम शामिल रहे। इन्होंने पूर्व में की गई जांच के बिंदुओं के आधार पर सत्यापन किया। जांच में सामने आया कि दशन क्लीनिक के नाम से रजिस्ट्रेशन है, न कि अस्पताल नर्सिंग होम चलाने का। फिर भी क्लीनिक में 10 बिस्तर लगे मिले।

यहां नियम विरुद्ध मरीजों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा था। क्लीनिक में एक पैथोलॉजी भी पाई गई, लेकिन उसके दस्तावेज नहीं मिले। पैथोलॉजी के लिए नियमानुसार एमडी पैथोलॉजी होना आवश्यक है। क्लीनिक से निकलने वाले बायोमेडिकल कचरे को नष्ट करने के लिए कोई व्यवस्था नहीं मिली। पाल्यूशन कंट्रोल बोर्ड का भी लाइसेंस नहीं मिला।

एनओसी, आग बुझाने के लिए व्यवस्था नहीं

निरीक्षण में फायर संबंधी एनओसी तथा आग बुझाने के लिए कोई व्यवस्था नहीं मिली। हैरानी की बात तो यह रही कि इस क्लीनिक में संचालित दवा दुकान में रखी शराब भी बरामद हुई। यहां बड़ी मात्रा में एक्सपायरी डेट के इंजेक्शन मिले हैं। ऑक्सीजन सिलेंडर भी खाली रख मिला। जांच टीम ने इस संबंध में उच्च अधिकारी को रिपोर्ट तैयार कर भेज दी है।

Advertisement