कंगारू मदर केयर – जादू की झप्पी

केकड़ी (कैलाश शर्मा) : राजकीय जिला चिकित्सालय केकड़ी के एस.एन.सी.यू. में अन्तर्राष्ट्रीय कंगारू केयर जागरूकता दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया, एंव कंगारू मदर केयर के बारे में जागरूक किया गया। एस.एन.सी.यू. यूनिट केकड़ी प्रभारी डॉ मनोज कुमार नागर ने बताया कि प्रीमेच्योर डिलीवरी से शिशु को सेहत संबंधी कई समस्या होती है।कंगारू केयर’ की सेवा सभी छोटे-बड़े शहरों में उपलब्ध है। यह एक प्राकृतिक उपचार है। इसमें कम वजन के और समय से पहले जन्मे शिशु को माँ एंव उसके परिवारजनों के द्वारा मादा कंगारू की तरह शिशु को छाती से लगाकर रखना होता है। आसान शब्दों में कहें तो ‘कंगारू केयर’ पद्धति में मां अपने बच्चे को छाती से लगाकर रखती है। इस दौरान मां अपने बच्चे का पूरा ध्यान रखती है।

के एम सी के फायदे – डॉ मनोज कुमार नागर ने बताया कि केएमसी विधि से शिशु और मांं दोनों को कई तरह के फायदे होते हैं जैसे शिशु का तापमान सही रहता है। वह इंफेक्शन से भी दूर रहता है। इससे शिशु और मां के बीच का रिश्ता मजबूत होता है। स्तनपान बेहतर होता है। इस विधि से बिना किसी दवाई के वजन बढ़ाया जा सकता है । यह विधि शिशु के शारीरिक एंव मानसिक विकास के लिए भी महत्वपूर्ण होती है |

इस कार्यक्रम में प्रमुख चिकित्सा अधिकारीं महोदय डॉ नवीन कुमार जांगिड मुख्य अतिथि, एंव विशिष्ट अतिथि उपनियंत्रक डॉ मुनेश कुमार गौड, एस.एन.सी.यू. यूनिट प्रभारी डॉ मनोज कुमार नागर और डॉ अभिषेक जैन, डॉ शम्भूलाल मीना, डॉ फाहिज़ मोहम्मद उपस्थित रहे | कार्यक्रम का संचालन नर्सिंग ऑफिसर निखिल कुमार साहू ने किया | इस कार्यक्रम में वार्ड इंचार्ज आलोक कुमावत व अन्य नर्सिंग ऑफिसर राजेन्द्र सैनी, दिव्या पाराशर, कृष्ण अवतार कुमावत उपस्थित रहे, इस कार्यक्रम में पोस्टर प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसमे राजकीय मोंडल नर्सिंग कॉलेज के स्टूडेंट ने भाग लिया | जिसमे प्रथम, दित्तीय, तृतीय स्थान वाले छात्र-छात्राओ को पुरुष्कार और सर्टिफिकेट वितरित किये गये |

Advertisement