बच्ची को बचाया, टैक्सी ड्राइवर बना हनुमान

केरल। केरल से एक अच्छी खबर सामने आई है। जहां आज लोगों को लगता है कि देश में मानवता खत्म होती जा रही है। वहीं दूसरी तरफ एक अनजान टैक्सी ड्राइवर ने छोटी सी बच्ची को बचाने के लिए वो किया जो आमतौर पर कोई नहीं करता। केरल में एक बच्ची की जान बचाने के लिए टैक्सी ड्राइवर ने 500 किलोमीटर की दूरी मात्र 7 घंटे में तय कर दी।

हुआ यूंकि, केरल के कुन्नूर में एक छोटी सी बच्ची फातिमा जो कि दिल की बीमारी से ग्रस्त है, उसे हार्ट सर्जरी के लिए तिरूअनंतपुरम के श्री चित्रा तिरूनल इंस्टिट्यूट फॉर मेडिकल साइंस एंड टेक्नोलॉजी में लेकर जाना था। कुन्नूर से तिरुअनंतपुरम का रास्ता 500 किलोमीटर का है और इसे तय करने में करीब 13 घंटे का समय लगता है। अब यहां से शुरू हुई, क्योंकि डॉक्टरों ने कहा था कि बच्ची को किसी भी हालत में 8-9 घंटे में अस्पताल पहुंचना ही होगा।

पहले तो एंबुलेंस ड्राइवर तमीम को ये काम असंभव लगा लेकिन फिर उसे समझाया गया कि इस काम में उसकी सब मदद करेंगे। जिसके बाद तमीम ने बच्ची को सही सलामत पहुंचाने का फैसला लिया। ये पूरा मामला 15 नवंबर का बताया गया है।

इस काम को करने के लिए पुलिस ने पूरे रास्ते पर ग्रीन कॉरिडॉर बनाया और सभी ने मिलकर बच्ची को सही सलामत अस्पताल पहुंचा दिया।