निशुल्क दवाइयां बिक रही थी बाजार में!

जयपुर। राजस्थान के जयपुर से हिला देने वाला खुलासा हुआ है। जयपुर के गोविंद मार्ग स्थित मनो चिकित्सालय में गरीबों को दी जाने वाली निशुल्क दवा चोरी कर बाहर चाय की थड़ी पर बेची जा रही थी। हालांकि इस बात का खुलासा खुद अस्पताल प्रशासन ने किया। इस खुलासे के बाद ट्रांसपोर्ट नगर थाना पुलिस ने दवा चोरी करने वाले संविदाकर्मी को गिरफ्तार कर लिया है।

इस दौरान एक ओर बात सामने आई, जिसनें सभी को हैरान कर दिया। इस पूरे फर्जीवाड़े में पकड़ा गया चाय की थेड़ी वाला पहले भी गिरफ्तार हो चुका है। इस मालमे पर कार्रवाई करते हुए अस्पताल ने एक कर्मचारी को एपीओ कर दिया और चार अन्य संविदाकर्मियों को हटा दिया।

एक तरफ जहां इसको लेकर जांच शुरू हो गई है, वहीं अस्पताल ने भी अपनी तरफ से पड़ताल की है। जिसमें बीपीएल दवा वितरण केन्द्र में गड़बड़ी पकड़ी गई। इसके आधार पर वितरण केन्द्र प्रभारी मुकेश शर्मा को एपीओ कर दिया गया है और चार संविदाकर्मी रमेश, राकेश, शिवजी व प्रीतिराव को हटा दिया गया है। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ेगी, उम्मीद जताई जा रही है कि इस मामले में नए खुलासे हो सकते है।

अस्पताल प्रशासन को इस मामले के बारे में 20 सितम्बर को पता चला जब अस्पताल की दवा बाहर एक चाय की थड़ी वाले के पास मिली। इस खबर के बाहर आने के बाद आशंका जताई जा रही है कि ये दवाएं नशे के आदी लोगों को बेची जाती थी।