डॉक्टरों और मेडिकल सेंटर गठजोड़ का पर्दाफाश

बेंगलुरू। बेंगलुरू से हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। आयकर विभाग द्वारा डॉक्टरों और मेडिकल सेंटर में जारी गठजोड़ को लेकर बड़ा पर्दाफाश किया गया है। विभाग के अधिकारियों ने कुछ आईवीएफ क्लीनिकों और डायग्नॉस्टिक सेंटरों में तलाशी के बाद मेडिकल सेंटरों और डॉक्टरों के बीच एक बड़े बहुस्तरीय गठजोड़ का पर्दाफाश किया। इस दौरान आयकर विभाग ने 100 करोड़ रूपए के कालधन का पर्दाफाश भी किया है।

आयकर अधिकारियों ने दो इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) सेंटरों एवं पांच डायग्नॉस्टिक सेंटरों के खिलाफ अपनी तीन दिन की कार्रवाई के दौरान 1.4 करोड़ रुपए नगद और 3.5 किलोग्राम आभूषण एवं सोना-चांदी बरामद किए। उन्होंने विदेशी मुद्रा जब्त की और विदेशी बैंक खातों का पता लगाया जिनमें करोड़ों रुपए जमा थे। विभाग ने एक बयान में कहा कि जिन लैबों की तलाशी ली गई उन्होंने 100 करोड़ रुपए से ज्यादा की ऐसी धनराशि घोषित की है जिन्हें कहीं दिखाया नहीं गया है।

बताया गया है कि डॉक्टरों को मेडिकल जांच के लिए मरीजों को भेजने की एवज में पैसे दिए जा रहे थे। इस पूरे सांठगांठ में ये भी खुलासा हुआ है कि कमीशन लैब दर लैब बदलता था। वहीं डॉक्टरों के लिए सामान्य हिस्सा/कमीशन की मध्यम रेंज एमआरआई के मामलों में 35 फीसदी और सीटी स्कैन एवं लैब जांचों के मामले में 20 फीसदी रखा हुआ था।