सस्ती दवा भी मिलेगी और फार्मासिस्ट भी होंगे नियुक्त

रांची: झारखंड के लोगों के लिए खुशखबरी है। प्रदेश के तीनों मेडिकल कॉलेजों रिम्स-रांची, एमजीएम-जमशेदपुर और पीएमसीएच-धनबाद में मरीजों को वो सभी दवाएं भी सस्ती दरों पर मिल सकेंगी जो अस्पतालों में निशुल्क उपलब्ध नहीं कराई जाती हैं। इस फैसला से राज्य के लोगों को काफी फायदा होने वाला है।

जो दवाएं अब सस्ती दरों पर मिलेगी, उनमें कैंसर, वैस्कुलर डिजीज, सर्जिकल आइटम, इम्प्लांट के अलावा अन्य बीमारियों की दवाएं शामिल है। मरीजों को सस्ती दरों पर दवाएं उपलब्ध कराने के लिए तीनों मेडिकल कॉलेजों में अमृत दीनदयाल जन औषधि केंद्रों की स्थापना होगी।

इस केंद्रों को मेडिकल कॉलेजों में बनाने से अब एक ही छत के नीचे जेनरिक एवं ब्रांडेड लाइफ सेविंग दवाएं उपलब्ध होंगी। अब आपको दवा के लिए अस्पताल से बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। साथ ही मरीजों के इलाज में दवा पर लगभग 50 फीसद की बचत होगी। यानी की इलाज कराना आसान हो जाएगा। इसके साथ एक और जानकारी दी गई है कि दवा वितरण के लिए प्रशिक्षित फार्मासिस्ट रखे जाएंगे।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मिनी रत्न उपक्रम एचएलएल लाइफ केयर लिमिटेड ने राज्य सरकार को इसका प्रस्ताव दिया है। अपने प्रस्ताव में इस उपक्रम ने मेडिकल कॉलेजों में लगभग आधी कीमत पर तमाम दवाएं उपलब्ध कराने का दावा किया है। उसके अनुसार यह मॉडल पूरी तरह स्वपोषी होगा और राज्य सरकार को इसमें कोई वित्तीय खर्च नहीं होगा। एक तरीके से देखा जाए तो राज्य सरकार के साथ प्रदेश के लोगों को भी फायदा होगा।