दवा उत्पादन के लिए क्यूबा से भारत ने हाथ मिलाया

पंचकूला: भारत और क्यूबा के बीच स्वास्थ्य क्षेत्र में आपसी सहयोग को बढ़ावा देने के लिए समझौता पत्र हस्ताक्षर हुआ। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा एवं क्यूबा के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रोबर्टो टोमस मोरल्स ओजेदा ने समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी और क्यूबा का प्रतिनिधि मंडल भी मौजूद रहा।

समझौते को ऐतिहासिक बताते हुए नड्डा ने कहा कि भारत और क्यूबा के बीच साझा समानता के मूल्यों और न्याय पर आधारित ऐतिहासिक संबंध हैं। दोनों ही देश कई वैश्विक मुद्दों पर समान राय रखते हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य एवं दवाईयों के क्षेत्र में सहयोग के लिए यह समझौता बेहद महत्वपूर्ण हैं। इससे दोनों ही देशों के बीच स्वास्थ्य के क्षेत्र में संस्थागत सहयोग का बढ़ावा मिलेगा। फार्मा और बायोटेक्नोलॉजी के क्षेत्र में सहयोग की व्यापक संभावनाएं हैं। क्यूबा ने बायोटेक्नोलॉजी और फार्मा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया है। हमें संयुक्तरूप से व्यापारिक स्तर पर दवाईयों के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए संस्थागत सहयोग को प्रोत्साहित करने की जरूरत है। नड्डा ने कहा कि उन्होंने समझौते को लागू करने के लिए संयुक्तकार्य दल के गठन का सुझाव दिया है।