सॉफ्टवेयर में कैद होंगे ड्रग एवं फूड अधिकारी!

रोहतक: खाद्य विभाग के इंस्पेक्टरों पर निगरानी के लिए एफएसएसएआई सॉफ्टवेयर ला रहा है। फूड सेफ्टी कम्प्लाइंस रेग्युलर इंस्पेक्शन एंड सैंपलिंग (फोस्कोरिस) नाम का यह ऑनलाइन प्लेटफॉर्म फूड इंस्पेक्टरों के काम-काज पर नजर रखेगा। इसमें उनकी लोकेशन, जांच की अवधि, ली गई सैंपलिंग की जानकारी आदि सब कुछ दर्ज होगा। अफसरों का दावा है कि इससे कामकाज में पारदर्शिता आएगी। सभी 29 राज्यों में इसी सिस्टम से काम होगा। शुरुआत मध्य प्रदेश सहित दस राज्यों में नए साल यानी जनवरी से होगी।

खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के इंस्पेक्टरों के कामकाज की निगरानी को हाईटेक बनाने की कवायद है। वह कहां जा रहे हैं, क्या कर रहे हैं, दिनचर्या क्या है, किस सामग्री की जांच कर रहे हैं, उसमें कितना समय लग रहा है जैसे सभी आंकड़े तथ्यात्मक ढंग से जुटाए जाएंगे। सुनिश्चित किया जाएगा कि आंकड़े वास्तविक हैं या फर्जी। इन तथ्यों का रिकॉर्ड सॉफ्टवेयर के जरिए रखा जाएगा। ताकि इंस्पेक्टरों द्वारा की जाने वाली मॉनीटरिंग और सैंपलिंग की सारी जानकारी मिल सके। जांच गाइडलाइन के खिलाफ हुई है तो वह ट्रेस हो जाएगी। एफएसएसएआई खाद्य सामग्री की मॉनीटरिंग और सैंपलिंग में व्यवहारिक दिक्कतों को दूर कर एकरूपता लाना चाहता है।