फूड प्रोडक्ट होंगे बैन, ई-कॉमर्स कंपनियों को नोटिस

नई दिल्ली: फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने सेहत कि लिए खतरनाक फूड सप्लीमेंट पर बैन लगाने की तैयारी कर ली है। जिन सप्लीमेंट में क्रिएटिन मोनोहाइड्रेट मिला होता है, उनकी बिक्री रोकी जाएगी। ऑनलाइन बाजार में इसकी बिक्री रोकने पर खास नजर है। इस बाबत ई-कॉमर्स कंपनियों को नोटिस जारी कर दिए गए हैं। देशभर में छापेमारी का निर्णय लिया गया है। इसके लिए फूड सेफ्टी कमिश्नर, सेंट्रल लाइसेंसिंग अथॉरिटी को कहा गया है कि वह अपने-अपने क्षेत्र में जाकर जांच करें और ऐसे प्रॉडक्ट की बिक्री रोकें।

क्रिएटिन मोनोहाइड्रेट की बिक्री और इस्तेमाल के लिए भारत में अभी तक कोई नियम-कानून नहीं है। fssai के अनुसार देश में करीब 13 ऐसी कंपनियां काम कर रही हैं, जो वैध उत्पादों का लाइसेंस लेकर अवैध तरीके से क्रिएटिन मोनोहाइड्रेट मिला रहे हैं। सेहत के लिए ये बेहद खतरनाक है। अधिकारियों की मानें तो इस बारे में अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और हॉमशॉप18.कॉम को नोटिस जारी कर दिए गए हैं। इनमें कंपनियों को कहा गया है कि ऐसे प्रॉडक्ट की बिक्री तुरंत बंद कर दें। जो प्रॉडक्ट बाजार में हैं, उसे वापिस लेने की प्रक्रिया शुरु कराई जाएगी। उत्पाद मानकों के अनुरुप नहीं है तो fssai ऐसी कंपनी का लाइसेंस रद्द कर सकती है। कंपनी के कुछ या सभी उत्पाद के व्यापार और बिक्री पर रोक लगाई जा सकती है।