पीजीआई में नौकरी के नाम पर ठगी 

चंडीगढ़। पीजीआई में नौकरी के नाम पर लोगों से ठगी की जा रही है। अब तक हरियाणा, पंजाब, उत्तरप्रदेश, जम्मू कश्मीर और बिहार समेत पांच राज्यों के करीब 200 लोगों को निशाना बनाया जा चुका है। हैरानी की बात ये है कि पुलिस के पास जालसाज का मोबाइल और अकाउंट नंबर होने के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। पुलिस के पास जितनी भी शिकायतें आई हैं, वे सभी उनके मूल राज्यों के थाना क्षेत्र में वापस भेज जी गई हैं। पुलिस पीडि़तों से यह कह कर पीछा छुड़वा रही है कि केस उनके एरिया में नहीं है। यूटी पुलिस का हाईटेक साइबर सेल भी फ्रॉड के आगे फेल हो गया है। वह हर बार नाम बदलकर लोगों को चूना लगा रहा है।
मामले में पीजीआइ प्रशासन भी चुप्पी साधे हुए है। पीजीआई आने वाले शिकायतकर्ताओं को थाने भेज दिया जाता है। ठग पांच कैटेगरी में नौकरी का झांसा देता है और अपने खाते में पैसे डलवा लेता है। संस्थान के डायरेक्टर कार्यालय में हर रोज कोई न कोई आ रहा है। यहां आकर उनको धोखाधड़ी का पता चलता है। कई लोग तो यहां सामान समेत ज्वाइन करने आ चुके हैं। हरियाणा के करनाल, रोहतक, जींद, पानीपत और हिसार से ऐसे कई केस आ चुके हैं। वहीं, पंजाब के अमृतसर, संगरुर और लुधियाना में ऐसे मामले सामने आए हैं। इस बारे में सेक्टर 11 थाना, चंडीगढ़ के एसएचओ लखबीर सिंह का कहना है कि ये केस हमारे ज्यूरिसडिक्शन में नहीं आते हैं। बाहर के मामले होने से केस वापस भेजे गए हैं।