आरएमएल में किडनी प्रत्यारोपण की सुविधा बढ़ी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के आरएमएल अस्पताल में किडनी प्रत्यारोपण के लिए सुविधा बढ़ा दी गई है। अब अस्पताल में दो टीमें उपलब्ध हो गई हैं, जिससे हर सप्ताह दो मरीजों का किडनी प्रत्यारोपण हो सकेगा। इसके चलते वेटिंग कम होगी और काफी संख्या में इंतजार कर रहे मरीजों को लाभ मिलेगा।

गौरतलब है कि आरएमएल अस्पताल में वर्ष 2011 में किडनी प्रत्यारोपण सर्जरी शुरू हुई थी। करीब सात सालों में सिर्फ 181 मरीजों की ही किडनी प्रत्यारोपण सर्जरी हो पाई। पहले जनरल सर्जरी विभाग के डॉक्टर ही किडनी प्रत्यारोपण करते थे। अब यूरोलॉजी विभाग के डॉक्टरों की टीम भी किडनी प्रत्यारोपण करने लगी है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. वीके तिवारी ने कहा कि किडनी प्रत्यारोपण के लिए ऑपरेशन थियेटर में एक साथ दो टेबल की जरूरत पड़ती है। एक ओटी टेबल पर डोनर की किडनी सुरक्षित तरीके से निकालने के लिए सर्जरी की जाती है और दूसरे टेबल पर मरीज को प्रत्यारोपण किया जाता है।

अभी तक सप्ताह में एक दिन किडनी प्रत्यारोपण के लिए ऑपरेशन थियेटर में दो ओटी टेबल उपलब्ध हो पाते थे। इसलिए एक मरीज का ही किडनी प्रत्यारोपण हो पाता था। अब नया सर्जिकल वार्ड शुरू किया जा रहा है। इसके तहत हर सप्ताह दो किडनी प्रत्यारोपण किए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि जनरल सर्जरी व यूरोलॉजी विभाग की दोनों टीमों को सोमवार को ही ओटी में किडनी प्रत्यारोपण के लिए अलग-अलग दो-दो ओटी टेबल की सुविधा मिल सकेगी। इससे मरीजों की वेटिंग लिस्ट कम होगी।