बीपी की दवा से होगा डायबिटीज का इलाज 

नई दिल्ली। डायबिटीज टाइप-एक से बचाव में हाई ब्लड प्रेशर में काम आने वाली दवा मिथाइलडोपा डायबिटीज को उपयोगी माना गया है। मिथाइलडोपा का इस्तेमाल 50 से अधिक वर्षों से हाई ब्लड प्रेशर के इलाज में किया जा रहा है। डब्ल्यूएचओ ने भी मिथाइलडोपा को जरूरी दवाओं की सूची में शामिल कर रखा है। जर्नल ऑफ क्लीनिकल इन्वेस्टिगेशन के अनुसार ‘डीक्यू 8’ नामक यौगिक के कारण व्यक्ति डायबिटीज का शिकार होता है। इस यौगिक को नियंत्रित करने से डायबिटीज की भी रोकथाम की जा सकती है।

शोधकर्ताओं ने अध्ययन के लिए फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन से स्वीकृत दवाओं का इस्तेमाल किया। सुपर कंप्यूटर की मदद से एचएलए यानी जीन की जटिल संरचना को डीक्यू-8 से जोड़ा गया। फिर इन पर हजारों दवाओं के प्रभाव का बारी-बारी से विश्लेषण किया गया। शोध में पाया गया कि मिथाइलडोपा शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को नुकसान पहुंचाए बिना ही डीक्यू 8 को ब्लॉक कर देता है। चूहों पर 10 साल तक प्रयोग किए जाने के बाद डायबिटीज से ग्रस्त 20 मरीजों पर भी इसका क्लीनिकल ट्रायल किया गया।